शेयर बाजार में भारी गिरावट, डाॅलर के मुकाबले रूपया हुआ कमजोर

मुंबई : भारत में आज सुबह बाजार खुलने के साथ लेवाली का निराशाजनक दौर रहा। बाजार में गिरावट दर्ज की गई। हालांकि बाजार पर वैश्विक बाजार की गिरावट का असर भी पड़ रहा है। कहा जा रहा है कि चीन के बाजार में भी गिरावट रही। जहां मुंबई स्टाॅक एक्सचेंज का संवेदी सूचकांक आज सुबह के समय ही 1000 से भी ज्यादा अंको की गिरावट के साथ गिरकर 27000 से नीचे रह गया है. वहीं नेशनल स्टाॅक एक्सचेंज 8000 पर पहुंच गया। ऐसे में 1 डाॅलर की कीमत करीब 66.55 रूपए आंकी जा रही है। माना जा रहा है कि डाॅलर की तुलना में रूपया कमजोर होने से उपभोक्ता वस्तुओं के दाम बढ़ सकते हैं वहीं विदेश से आयातीत सामान और महंगा हो सकता है। 

मिली जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन द्वारा बाजार में दामों में स्थिरता लाने के प्रयासों को आज करारा झटका लगा है। मुंबई के दलाल पथ पर आज शेयर कारोबार को लेकर भारी चहल पहल रही लेकिन हफ्ते की शुरूआत के साथ ही निवेशकों को निराशाजनक सूचना हाथ लगी इस दौरान बाजार में जबरदस्त गिरावट का दौर रहा। मुंबई स्टाॅक एक्सचेंज में बीते समय अच्छी बढ़त हासिल हो गई थी लेकिन अब फिर से शेयर बाजार में गिरावट देखने को मिली है। दूसरी ओर रूपए की कीमत डाॅलर से बहुत कम आंकी जा रही है। रक्षाबंधन के ऐन पहले मुद्रास्फीती में आए इस बदलाव का असर त्यौहारी ग्राहकी पर भी पड़ सकता है।

ऐसे में लोगों को महंगाई की मार से दौ चार होना पड़ सकता है। दूसरी ओर विरोधियों द्वारा बाजार में जारी गिरावट और मुद्रास्फीति की स्थिति के कारण एनडीए सरकार का विरोध किया जा रहा है। ऐसे में कहा जा रहा है कि एनडीए द्वारा नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री के तौर पर लाॅंच करने के लिए यूपीए की नीतियों का जमकर विरोध किया गया था लेकिन अब रूपए की तुलना डाॅलर से करने पर और भी बुरी स्थिति सामने आ रही है। लोग लगातार बढ़ती महंगाई से परेशान हो रहे हैं। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -