अगस्ता मामले की जांच की निगरानी की उठी मांग

नई दिल्ली: बहुचर्चित अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकाॅप्टर घोटाले में केंद्र सरकार की मुश्किलें कम होने का नाम ही नहीं ले रही हैं. हाल ही में केंद्र और सीबीआई से सुप्रीम कोर्ट ने एक जनहित याचिका पर सवाल मांगा है। न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा और न्यायमूर्ति शिव कीर्ति सिंह की पीठ में अभिभाषक एमएल शर्मा द्वारा याचिका दायर की गई।  याचिका में कहा गया है कि इस पूरी जांच प्रक्रिया की निगरानी की जाएगी। 

यही नहीं इसमें मांग की गई है कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी आदि नेताओं के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाए. इनके नामों का उल्लेख इतालवी न्यायालय के निर्णय में कथित तौर पर किया गया, उल्लेखनीय है कि 12 हेलिकाॅप्टर्स अतिविशिष्ट लोगों के लिए खरीदे जाने का समझौता किया गया।

लेकिन डील पूरी होने से पहले ही इटनी के न्यायालय ने कंपनी के प्रमुख पर कार्रवाई की. जिसके बाद इस डील को रद्द कर दिया गया. भारत सरकार ने कुछ हेलिकाॅप्टर्स की खेप ले ली थी तो दूसरी ओर कुछ रकम एडवांस पेमेंट के तौर पर भी दी थी, याचिका में मामले की जांच न्यायालय की निगरानी में एसआईटी या सीवीसी से करवाने की मांग भी की गई।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -