किस्से संता के

किस्से संता के

tyle="text-align:justify">संता अपने बेटों के साथ ट्रेन में जा रहा था । 
टीटी के आते ही दोनों बेटों को सीट के नीचे घुसाकर, चादर डाल दी कुर्सी पे बैठ गया ।
टीटी – टिकट दिखाओ । 
संता – ये लो । 
टीटी – ये तो आधा टिकट है। 
संता – आधा मतलब। 
टीटी – आधा मतलब एक बटा दो, एक ऊक ऊपर ये रहे दो नीचे। 
..........पर दो नीचे । 
संता चादर हटा के बोला – तो देख साले ए
संता : आपकी कार का क्या नाम है?
महिला : नाम मुझे याद नहीं पर वो “T” से स्टार्ट होती है । 
संता : ओ तेरी, आपकी कार Tea से स्टार्ट होती है मेरी तो पेट्रोल से स्टार्ट होती है । 
..........
संता सेना में भर्ती हो गया !
लड़ाकू जहाज लेकर पाकिस्तान से लड़ने गया,लड़ने के बाद जब जहाज नीचे उतारा तो सबको बताने लगा 
मैंने पाकिस्तानियों के 3 जहाज मारे , 2 बम गिराये । 
दूसरा सैनिक – वाह क्या बात है, पर एक बात भूल गए कि आप खुशी के मारे पाकिस्तान में ही जहाज उतार लाये है। 
..........
संता रोटी का एक टुकड़ा खुद खा रहा था और एक पास बैठी मुर्गी को खिला रहा था…
बंता:- ये क्या कर रहा है..
संता:- चिकन के साथ रोटी खा रहा हूँ..........!!!
..........
संता एक बड़ी कंपनी में इंटरव्यू देने गया। 
बॉस – बधाई हो, आप को सलेक्ट कर लिया गया है, आपकी सैलरी पहले साल 5 लाख /साल होगी ,फिर अगले साल बढाकर 12 लाख /साल कर दी जाएगी । 
संता बैग उठा के जाने लगा । 
बॉस – क्या हुआ ?
संता – मैं अगले साल ही आऊंगा
बॉस............ बेहोश !!!
............