गौतम बुद्ध

May 17 2018 10:39 AM
गौतम बुद्ध

क्रोध करना एक गर्म

कोयले को दूसरे पे फैंकने

के समान है

जो पहले आपका ही

हाथ जलाएगा।