रिलायंस इंडस्ट्रीज विदेशी बैंक की गारंटी के साथ जुटाएगी 22.5 करोड़ डॉलर

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड अमेरिकी एक्सपोर्ट-इंपोर्ट बैंक की गारंटी के साथ 2.512 फीसदी ब्याज पर 22.5 करोड़ डॉलर जुटाएगी. निजी क्षेत्र की ऊर्जा कंपनियों के लिए यह इस तरह का पहला वाकया होगा. कंपनी ने गुरुवार को कहा कि निर्गम की परिपक्वता अवधि 11 साल होगी और दुनिया भर में उड्डयन क्षेत्र से बाहर की किसी कंपनी के लिए यह अवधि भी सबसे लंबी होगी. कंपनी के बयान में कहा गया है, "एक निश्चित दर पर जुटाई जाने वाली इस राशि का उपयोग पहले एक्सिम बैंक की गारंटी पर फ्लोटिंग दर पर हासिल किए गए कर्ज का एक हिस्सा चुकाने में किया जाएगा.

फ्लोटिंग दर पर कर्ज भारत में जामनगर परिसर में पूंजीगत खर्च के लिए लिया गया था. कंपनी की 12 जून को हुई सालाना आम बैठक में अध्यक्ष मुकेश अंबानी ने कहा था कि कंपनी जामनगर में 15 लाख टन क्षमता वाली विश्व स्तरीय इथाइलीन क्रैकर इकाई स्थापित कर रही है. यह अगले कारोबारी साल की तीसरी तिमाही में शुरू हो जाएगी. यह नए परिसरों के निर्माण के लिए किए जा रहे दो लाख करोड़ रुपये के निवेश का एक हिस्सा है, जिसका मकसद नए कारोबार का विकास करना है.ins

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -