पंजाब पीपुल्स पार्टी का कांग्रेस में हुआ विलय

Jan 15 2016 02:30 PM
पंजाब पीपुल्स पार्टी का कांग्रेस में हुआ विलय

चंडीगढ़ : पंजाब में माघी मेले के बाद राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई है। दरअसल विभिन्न दल आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर अपनी-अपनी स्थिति मजबूत करने में लगे हैं। ऐसे में कुछ नेता एक दल को छोड़कर दूसरे दल में शामिल हो रहे हैं। राजनीति के दिग्गज पंजाब में सक्रिय हैं। कांग्रेस भी आम आदमी पार्टी के साथ राज्य में अपना जोर लगा रही है। पंजाब में विधानसभा चुनाव से पूर्व कांग्रेस को मजबूती मिली है।

दरअसल प्रकाश सिंह बादल के भतीजे मनप्रीत बादल अपनी पार्टी पंजाब पीपुल्स पार्टी के सदस्यों के साथ कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। उन्होंने अपनी पार्टी का विलय कांग्रेस में किया। उल्लेखनीय है कि वे शिरोमणि अकाली दल से अलग होकर नया दल बनाने में जुट गए थे। उन्होंने अपने दल का नाम पंजाब पीपुल्स बना लिया था। मनप्रीत 4 बार विधायक निर्वाचित हो चुके हैं। वर्ष 2012 में वे बीते चुनाव में ही जीत नहीं पाए थे।

उन्होंने भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी और शिअद के साथ मिलकर साझा मोर्चा बनाया था। मगर चुनाव में इस मोर्चे का वोट शेयर केवल 6 प्रतिशत था । बाद में वे शिअद से अलग हो गए थे। अपनी पार्टी का विलय कांग्रेस में करने के ही साथ उन्होंने कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता शकील अहमद से भेंट की। उन्होंने इसके पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी भेंट की थी।