चुनाव शुरू हो चुके हैं, मायावती सक्रीय क्यों नहीं हैं ...?, प्रियका गांधी ने जताई हैरानी

लखनऊ: देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश में कुछ ही दिनों में व‍िधानसभा चुनाव होने वाले हैं. प्रथम चरण के चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया संपन्न हो गई है. हैरानी वाली बात है कि अभी तक मायावती के नेतृत्व वाली बहुजन समाज पार्टी (baspa) का चुनाव प्रचार अभियान शुरू नहीं हुआ है. इसको लेकर कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव और यूपी की प्रभारी प्रि‍यंका गांधी ने भी हैरानी जाहिर की है. 

बसपा सुप्रीमो और पूर्व सीएम मायावती के चुनावी दंगल में नहीं उतरने को लेकर प्रि‍यंका गांधी वाड्रा ने कहा है कि, ‘मैं मायावती के चुनाव अभि‍यान शुरू न करने पर काफी हैरान हूं’. उन्‍होंने आगे कहा कि, ‘छह-सात माह पहले तक हमें लगता था कि उनकी पार्टी सक्रीय नहीं है. हमें लगा शायद वह चुनाव की प्रतीक्षा कर रही हैं. मगर अब हम भी बहुत हैरान हैं कि चुनाव आरंभ हो चुका है. हम बीच चुनाव में हैं और मायावती अभी भी सक्रीय नहीं हैं. उन्होंने चुप्पी साध रखी है. यह मेरी समझ के बाहर है.’

बता दें कि बसपा सुप्रीमो मायावती साल 2017 की विधानसभा चुनाव में करारी शिकस्त मिलने के बाद प्रदेश की सियासत में उस प्रकार से सक्रीय नहीं रह गई हैं. साल 2019 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने अपनी विचारधारा से अलग जाकर अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी (सपा) के साथ गठबंधन किया था. मगर, दलित वोटरों को वे समाजवादी पार्टी के पक्ष में मोड़ने में सफल नहीं हो पाईं थी. इसके बाद से उनकी सियासी मैदान में सक्रियता बेहद कम देखी गई है. इस बार के विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर भी वे सक्रीय नज़र नहीं आ रही हैं.

ओडिशा पंचायत चुनाव: 2.29 लाख से अधिक नामांकन पत्र दाखिल

कांग्रेस ने जितिन प्रसाद को भाजपा में जाने से क्यों नहीं रोका ?

कमल हासन ने तमिलनाडु शहरी स्थानीय निकाय चुनावों के लिए उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी की

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -