Share:
'यूपी की जेल में सामूहिक हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं कैदी..', स्वामी प्रसाद मौर्य बोले- ये सांप्रदायिक हिंसा..
'यूपी की जेल में सामूहिक हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं कैदी..', स्वामी प्रसाद मौर्य बोले- ये सांप्रदायिक हिंसा..

लखनऊ: समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय महासचिव स्वामी प्रसाद मौर्य ने कैदियों से हनुमान चालीसा का जाप करने के लिए कहने के लिए उत्तर प्रदेश के जेल अधिकारियों की आलोचना की है। मौर्य ने कहा कि, "सरकारी रुख किसी विशेष समुदाय के लिए धार्मिक कार्यक्रमों को प्रोत्साहित करना सांप्रदायिकता को प्रेरित कर रहा है।" 

उत्तर प्रदेश के जेल मंत्री धर्मवीर प्रजापति पर निशाना साधते हुए मौर्य ने कहा कि, ''पद की शपथ लेते समय शायद मंत्री जी ने जो प्रतिबद्धता जताई थी, उसका पालन नहीं कर रहे हैं। हमारा संविधान धर्मनिरपेक्ष और गैर-सांप्रदायिक है। हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, बौद्ध, जैन, पारसी - सभी संविधान के समक्ष समान हैं। इसलिए, किसी भी सरकारी संस्थान में किसी विशेष धर्म के लिए विशेष कार्यक्रम आयोजित करना सांप्रदायिक हिंसा माना जाता है।" 

उनकी यह टिप्पणी तब आई जब प्रजापति ने यह स्पष्ट किया कि कैदी "स्वेच्छा से" हनुमान चालीसा का पाठ कर रहे थे। जेल मंत्री ने कहा था कि, "कैदी स्वेच्छा से शनिवार और मंगलवार को हनुमान चालीसा और सुंदरकांड पाठ का पाठ करते हैं। कैदियों को जबरन हनुमान चालीसा या सुंदरकांड पाठ करने के लिए कहने का कोई मकसद नहीं है।" उन्होंने कहा कि, ''हमारा एकमात्र उद्देश्य यह है कि जो कोई भी किसी भी धर्म को मानता हो, वह धार्मिक ग्रंथ पढ़ सकता है या मंत्रों का जाप कर सकता है।'' प्रजापति ने यह भी कहा कि सभी धर्मों के लोग जेल में हैं।

उन्होंने कहा कि, "यदि किसी अन्य धर्म के कैदी को किसी धार्मिक पुस्तक या वस्तु की आवश्यकता होगी, तो वह विभाग द्वारा उपलब्ध कराई जाएगी। यदि जेल में प्रार्थना होती है तो प्रार्थना पढ़ने की भी पूरी आजादी है। इससे पहले मैंने भी जेल में धार्मिक पाठ करने के सुझाव दिए थे।" जेल मंत्री ने यह भी कहा कि, "व्यक्तित्व विकास के लिए भगवान हनुमान से बेहतर कोई गुरु नहीं हो सकता। कैदी हनुमान चालीसा जैसे ग्रंथों से समाज में बेहतर जीवन जीने की विधि सीख सकते हैं। ऐसी व्यवस्था की जा रही है कि जो भी कैदी ऐसी धार्मिक पुस्तकों की मांग करेगा। उन्हें जेल पुस्तकालय से उपलब्ध कराया जाएगा।"

असम पुलिस ने पकड़ी ड्रग्स की बड़ी खेप, 15 करोड़ की हेरोइन के साथ दो तस्कर गिरफ्तार

उत्तरकाशी टनल: 17 दिन बाद मौत के मुंह से बचा लिए गए 41 मजदूर, CM धामी कर रहे श्रम‍िकों से बातचीत

बीते 9 वर्षों में 20 गुना बढ़ा भारत का मोबाइल उत्पादन, भारतीयों के हाथ में 99.2% स्मार्टफोन स्वदेशी, कई देशों में 'निर्यात' कर रहे हम

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -