जानिए 40 की उम्र के बाद मां बनने मे क्या-क्या दिक्कते आती है

जानिए 40 की उम्र के बाद मां बनने मे क्या-क्या दिक्कते आती है

प्रेजेंट समय में परिवेश बदल चूका है। अब लड़कियां अपनी पढ़ाई और करियर को ज्यादा समय देती है और बाकि के सारे काम बाद मे होते है।  30 की उम्र होते-होते उनकी शादी हो पाती है और इसके बाद वो दांपत्य जीवन को सेट करती है, घर आदि खरीदने के बाद ही बेबी प्लान करती है। ऐसे मे उनकी उम्र 40 के लगभग हो जाती है। लेकिन स्वस्थ दृष्टिकोण से 40 की उम्र के बाद मां बनाना घातक साबित हो सकता है।

आइए जानते है की 40 की उम्र के बाद मां बनने मे क्या-क्या दिक्कते होती है। 

प्रसव स्तिथि 

40 की उम्र के बाद सामान्य प्रसव होना थोड़ा मुश्किल पढ़ जाता है, ऐसे मे डॉक्टर को ऑपरेशन करना पढ़ सकता है। इस बारे मे डॉक्टर से पहले ही  सलाह ले ले ताकि बाद मे आपको कोई परेशानी नहीं हो और आप और आपका होने वाला बच्चा स्वस्थ रहे। 

भूर्ण का आकर 

40 की उम्र के बाद गर्भवती होने का असर भूर्ण के आकर पर पड़ता है। वह बहुत छोटा या बहुत बड़ा हो सकता है जिसकी वजह से बच्चे के शरीर मे  विकार हो सकता है या मां को समस्या हो सकती है। 

उच्च रक्तचाप 

40 की उम्र के बाद गर्भधारण करने मे उच्च रक्तचाप की समस्या होने की सम्भावना बढ़ जाती है।  ऐसे मे महिला को अपने डॉक्टर से संपर्क करना  चाहिए। 

गर्भावधि मधुमेह 

एक उम्र के बाद मां बनाने पर गर्भावधि मधुमेह की समस्या होने के चांस बहुत ज्यादा होते है। 

गर्भपात 
40 के बाद गर्भधारण करने पर गर्भपात होने की सम्भावना होती है ऐसे मे मां को विशेष ध्यान रखना पड़ता है। 

जन्मजात विकार 

एक उम्र पार करने के बाद मां बनाने का प्रभाव बच्चे पर पड़ता है। उसमे कई सिंड्रोम होने का भय रहता है। उसमे मांसिक बीमारी हो सकती है या वह ऑटिस्म से पीड़ित हो सकता है। ऐसे मे गर्भवती होने के बाद लगातार परिक्षण करवाते रहे। 

प्री-एक्लेम्पसिया और प्लेसेंटा प्रिविआ 

उच्चा रक्तचाप और पेशाब मे प्रोटीन (प्री-एक्लेम्पसिया) और प्लेसेंटा का कम होना (प्लेसेंटा प्रिविआ) की समस्या इस उम्र मे मां बनाने पर होती है।  ऐसे मे डॉक्टर से सलाह लेना आवश्यक होती है। 

प्रसव समस्याएं 

40 के बाद मां बनने पर प्रसव मे बहुत समस्याएं आती है। ऐसे मे खतरा बहुत रहता है। 

प्रसव के बाद की समस्याएं 

मदर बनने के बाद के काफी समस्याएं आती है जैसे कि - करद्योपाथ्य आदि।