आदमखोर शेर की सवारी करने वाला नहीं हो सकता संत

गोरखपुर : भारतीय जनता पार्टी के विवादित पोस्टर से राजनीति गर्मा गई है। दरअसल सांसद असदुद्दीन ओवैसी के दल एआईएमआईएम और कांग्रेस ने भाजपा का विरोध किया है। एमआईएम के नेताओं ने इस मामले में जारी किए गए भाजपा के पोस्टर का विरोध कर धरना तक दिया, जबकि कांग्रेस ने कहा कि आदमखोर शेर की सवारी करने वाला संत नहीं हो सकता।

कांग्रेस के जिलाध्यक्ष डाॅ. सैयद जमाल द्वारा कहा गया कि राहुल गांधी की आलोचना कर उन्हें नीचा दिखाने के प्रयास करना भाजपा की पुरानी आदत है। यह बात यह दिखलाती है कि भाजपा मानसिक तौर पर दिवालिया हो गई है। उन्होंने कहा कि भाजपा अल्पसंख्यकों से नफरत दर्शाती रही। वह अल्पसंख्यक आयोग को समाप्त करने की मांग करती रही लेकिन अब वह अल्पसंख्यक मोर्चे का सहारा लेने में लगी है। उनका कहना था कि यह कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल की जीत है।

उनका कहना था कि आदमखोर शेर की सवारी यदि कोई करता है तो वह संत नहीं हो सकता है। समाजवादी पार्टी ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि बाघ हिंसा का प्रतीक है। मगर समाजवादी हिंसा में विश्वास नहीं रखते हैं। सपा नेता व जिला अध्यक्ष सिद्दीकी ने आरोप लगाते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव के पूर्व सांप्रदायिक तनाव उत्पन्न करने की बात कही है। दूसरी ओर बसपा नेता ब्रजेश कुमार ने भी कहा है कि भाजपा की दशा पोस्टर से ही दिखाई देती है। भाजपा दूसरों का अपमान करने की संस्कृति से ग्रसित है। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -