पूजा ने छोड़ा सुसाइड नोट, लिखी अपने सिसकने की वजह

फरीदाबाद : डीएनए न्यूज पोर्टल की पत्रकार पूजा तिवारी की आत्महत्या के मामले में पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला है। देवनागिरी लिपि में लिखा यह सुसाइड नोट पूजा के दोस्त और हरियाणा पुलिस के इंस्पेक्टर अमित ने पुलिस को दिया है। सोशल साइट पर भी इस तीन पेज के सुसाइड नोट को अमित के साथियों ने वायरल करा दिया है।

अमित द्वारा दिए गए इस सुसाइड नोट के बाद से ये सवाल उठने लगे है कि यह सुसाइड नोट अमित ने क्यों दिया है। पुलिस जांच के दौरान यह नोट क्यों नहीं सामने आई। इस सुसाइड नोट में पूजा ने लिखा है कि उसने तो अपना काम इमानदारी से ही किया, लेकिन किसी ने भी उसका साथ नहीं दिया।

अपने माता-पिता को संबोधित करते हुए पूजा ने लिखा है कि आईएम सॉरी, मुझमें हिम्मत नहीं अब लड़ने की। थक चुकी हूं। इस लाइफ से, पत्रकारिता से। आज जो कदम उठा रही हूं, इसके लिए कोई जिम्मेदार नहीं है। मैं नहीं चाहती मेरे जाने के बाद आप लोगों को कोई परेशान करे। आप लोग दुनिया के मम्मी पापा हैं और हमेशा रहेंगे।

मैंने अपने प्रोफेशन के साथ कुछ भी गलत नहीं किया। मैं सही हूं। मैंने एक स्टिंग किया, एक नैक्सस को रिवील किया। लेकिन जर्नलिज्म अब इमानदार नहीं रह गया, केवल पैसा और पावर बोलता है। मैं न गलत हूं, न थी और न कभी होती। आई डिड अ गुड जॉब।

अपने तीन पन्ने के सुसाइड नोट में पूजा ने लिखा है कि ये जो कुछ भी हुआ उसके लिए अनिल गोयल, अर्चना गोयल, सौरभ भारद्वाज और वो सारे मीडियाकर्मी जिम्मेदार है, जो बिकाऊ है। इन लोगों ने मेरे खिलाफ गलत खबर चलाई। मेरे बाद मरेे माता पिता को कोई दुख या परेशान ना किया जाए। गलत लोगों पर कार्रवाई हो। मैं या अनुभव मिश्रा गलत नहीं थे। पैसे की डिमांड नहीं हुई। ना ही किसी इन्वोल्वमेंट रहा।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -