सपा-बसपा खेल रहे स्वार्थ की राजनीति : मोदी

महोबा : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तरप्रदेश के महोबा में उपस्थितों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड में तो नदियां हैं मगर फिर भी यहां पर पानी की मुश्किल है। उन्होंने कहा कि जिस बंदुलेखंड में धरती से हीरे, मोती आदि देने की शक्ति है वह किसान को अधिक कुछ नहीं दे पा रही है लेकिन किसान को पर्याप्त पानी मिल जाए तो यह मिट्टी में से सोना मिल सकता है। कुछ नदियां ऐसी हैं जो सूख जाती हैं कुछ नदियां हैं जो जल से भरी रहती हैं यदि इन नदियों को जोड़ दिया जाए तो पानी पर्याप्त रहेगा।

लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी ने वादा किया था कि वे बुंदेलखंड के किसानों को पानी उपलब्ध करवाऐंगे। ऐसे में वे आज यहां पर सिंचाई परियोजना का शुभारंभ करने पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि मनोबल से कठिन से कठिन परिस्थितियों को बदला जा सकता है। उन्होंने कहा कि यदि नदियों को नदियों से जोड़ दिया गया तो बाढ़ और सूखे की परेशानी हल हो सकती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के कार्य को आगे बढ़ाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि यदि उत्तरप्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने की इच्छा है तो फिर बसपा के क्षेत्र से बाहर निकलिए। जब कभी भी चुनाव आते हैं तो बसपा वाले सपा के कार्य की आलोचना करते हैं। आखिर जब पांच वर्ष बसपा ने कार्य किया तो फिर क्या सपा वालों पर कार्रवाई की। नहीं की। ये दोनों ही अपनी समय में यही करते हैं। सपा और बसपा ने उत्तरप्रदेश को तबाह कर रखा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज भी देश में ईमानदार लोग हैं बस जरूरत है लोगों को ताकत देने की। उनका कहना था कि उत्तरप्रदेश में जो बेईमानी का खेल चला है उससे उत्तरप्रदेश के लोगों को बचाना है।

उन्होंने उत्तरप्रदेश की जनता का उल्लेख किया और कहा कि लोकसभा में उत्तरप्रदेश ने पूर्ण बहुमत वाली सरकार चुनने में महत्वपूर्ण भागीदारी की। प्रधानमंत्री नरेेंद्र मोदी ने कहा कि एक ओर तो कुर्सी पाने की चिंता है तो दूसरी ओर किसी को कुर्सी बचाने की चिंता हैं, एक हम हैं जिसे उत्तरप्रदेश की चिंता है। उन्होंने कहा कि हमें अवसर दीजिए हम उत्तरप्रदेश में बदलाव लाऐंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आप अपनी, अपने बच्चों की उत्तरप्रदेश के भाग्य की और बुंदेलखंड की चिंता करना।

उत्तरप्रदेश में की जाने वाली राजनीति सभी ने देखी है। उन्होंने कहा कि यहां पर जमीन हड़पने के काम अधिक होते हैं। उत्तरप्रदेश हमारी धरती है मां है। इसे लूटने नहीं दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि जब अच्छी सरकार आती है तो जो बदलाव आता है यह बात मध्यप्रदेश के भाग में आने वाले बुंदेलखंड और उत्तरप्रदेश में आने वाले बुंदेलखंड को केंद्र द्वारा आवंटित मद से विकास हुआ।

मगर उत्तरप्रदेश वाले बुंदेलखंड में विकास नहीं हुआ। मप्र के बुंदेलखंड में सिंचाई को लेकर कार्य हुआ लेकिन उत्तरप्रदेश के बुंदेलखंड में अभी तक 40 प्रतिशत काम नहीं हुआ। यह जिम्मेदारी सपा और बसपा दोनों की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दूग्ध उत्पादन बढ़ाने की बात पर जोर दिया।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -