योग गुरू बाबा रामदेव फिर विवादों में, अब बाल बढ़ाने पर सवाल

नई दिल्ली : एक बार फिर बाबा रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद विवादों में है। इस बार योग गुरू बाबा रामदेव पर बालों में उपयोग किए जाने वाले तेल को लेकर सवाल उठ रहे हैं। इस मामले में विज्ञापनों को मॉनीटर करने वाली संस्था एएससीआई ने पतंजलि आयुर्वेद से सवाल किए हैं। दरअसल पतंजलि आयुर्वेद द्वारा विभिन्न विज्ञापनों में झूठे और भ्रामक प्रचार करने का आरोप लगाया है। जिसमें यह कहा गया है कि बाबा रामदेव की यह कंपनी विज्ञापनों में अन्य उत्पादों को गलत तरह से नीचा दिखा रही है। इस मामले में यह बात सामने आई है कि एएससीआई की ग्राहक शिकायत परिषद ने भी इस मामले में सवाल किए।

दरअसल इस परिषद के पास जॉनसन एंड जॉनसर, अमेजन, आईटीसी और दूसरी कंपनियों के विज्ञापनों के विरूद्ध शिकायतें थीं। जिसे देखा गया। दरअसल संस्था को 156 शिकायतें प्राप्त हुईं। इसमें 90 शिकायतें झूठे और भ्रामक प्रचार से जुड़ी थी। शिक्षा के क्षेत्र की 32 और स्वास्थ्य के क्षेत्र की 30 व खान - पान की 10 शिकायतें थीं।

इस मामले में पतंजलि आयुर्वेद के केश कांति नेचरल हेयर क्लींजर एंड ऑयल के विज्ञापन में कहा गया कि मिनरल ऑयल प्राकृतिक रूप से कैंसरकारक होते हैं उनके उपयोग से कैंसर हो सकता है। यह भी कहा गया है कि यह झूठा और भ्रामक दावा है। परिषद ने पतंजलि के कच्ची घानी सरसों तेल के विज्ञापन से जुड़ी शिकायत पर इस विज्ञापन को दूसरी कंपनियों के उत्पाद को नीचा दिखाने वाला पाया।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -