11,500 लोगो के स्वास्थ का जिम्मा उठा रहा है महज एक सरकारी डॉक्टर

नई दिल्ली : पिछले 7 वर्षो के दौरान देश में डॉक्टरों की संख्या साढ़े सात लाख से बढ़कर 9.38 लाख तक जा पहुंची लेकिन ये डॉक्टर कहां है, सरकार को इसकी भनक तक नही है। सरकारी सेवा में करीब एक लाख छह हजार डॉक्टर कार्यरत हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की हेल्थ प्रोफाइल रिपोर्ट में बताया गया है कि एक सरकारी डॉक्टर औसत 11528 मरीजों के स्वास्थ्य का जिम्मा संभाल रहा है।

हेल्थ प्रोफाल रिपोर्ट से देश में चिकित्सा सेवाओं की दुर्दशा की पोल खुलती है। रिपोर्ट के मुताबिक 2014 में देश में एलोपैथी डॉक्टरों की संख्या 938861 थी। लेकिन यह आंकड़ा MCI के रजिस्ट्रेशन रिकार्ड के आधार पर है जो 1947 से चला आ रहा है। इसमें से कितने डॉक्टर आज सक्रिय हैं, कितने विदेश चले गए सरकार के पास इसका रिकॉर्ड मौजूद नही है।

इसी रिपोर्ट के मुताबिक देश में कुल 106415 डॉक्टर ही शासकीय चिकित्सा संस्थानों में कार्यरत हैं। जबकि डेंटल स्पैशलिस्ट की बात करें तो सरकार के पास महज 5614 डेंटिस्ट ही हैं जबकि देश में पंजीकृत डेंटिस्टों की संख्या 1.54 लाख बताई जा रही है। एक सरकारी डेंटिस्ट करीब 2.17 लाख लोगों को सेवा दे रहा है। रिपोर्ट सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं की कलई खोलती है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -