भारत में हुई ओमिक्रॉन के सब-वैरिएंट 'FLiRT' की एंट्री, इन राज्यों में मिले संक्रमित
भारत में हुई ओमिक्रॉन के सब-वैरिएंट 'FLiRT' की एंट्री, इन राज्यों में मिले संक्रमित
Share:

कोरोना का एक नया वैरिएंट देश में एंट्री कर चुका है तथा तेजी से फैल रहा है. भारतीय SARS-CoV-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (INSACOG) द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, भारत में अब तक कोरोना के 324 मामले दर्ज किए गए हैं, जिनमें केपी.2 के 290 मामले एवं केपी.1 के 34 मामले सम्मिलित हैं. कोरोनावायरस के दो नए सब-वैरिएंट KP.2 और KP.1 को 'FLiRT' नाम दिया गया है. 'FLiRT' ओमिक्रॉन के सब-वैरिएंट्स का एक ग्रुप है तथा ये दोनों इस ग्रुप के अंदर ही आते हैं. KP.1 और KP.2 को 'FLiRT' उपनाम वैज्ञानिकों ने उनके म्यूटेशन के तकनीकी नाम के आधार पर दिया है. FLiRT में सम्मिलित KP.2 एवं KP.1, ओमिक्रॉन के सब-वैरिएंट JN.1 के वंशज हैं जिसने बीते वर्ष बहुत तबाही मचाई थी. 

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, ग्लोबल लेवल पर कोरोना का जेएन.1 और इसके सब-वैरिएंट चिंता का विषय हैं, जिनमें केपी.1 और केपी.2 सम्मिलित हैं. ग्लोबल हेल्थ ऑर्गनाइजेशन ने KP.2 को वैरिएंट अंडर मॉनिटरिंग के रूप में रखा है. रिपोर्ट के अनुसार, कोरोना के बढ़ते मामलों से भारत में फिलहाल अस्पताल में भर्ती होने एवं गंभीर मामलों में कोई वृद्धि नहीं हुई है इसलिए चिंता या घबराहट की कोई बात नहीं है. म्यूटेशन तेजी से होते रहेंगे क्योंकि यह SARS-CoV2 जैसे वायरस का नेचर है. 

किन्तु बीते कुछ वक़्त से अमेरिका, दक्षिण कोरिया एवं न्यूजीलैंड में कोरोना के मामले बढ़ने की वजह से FLiRT ही है जिस वजह से वहां पर कोरोना लहर की आशंका फिर से बढ़ गई है. केपी.2 और केपी.1, दोनों सिंगापुर में कोरोना के मामलों में अचानक हुई बढ़त के लिए जिम्मेदार हैं. सिंगापुर में कोरोना की नई लहर आ सकती है क्योंकि हेल्थ डिपार्टमेंट ने वहां पर 5 से 11 मई तक 25,900 से ज्यादा केस दर्ज किए है तथा ये मामले हर हफ्ते दोगुने हो रहे हैं. सरकार ने एक स्वास्थ्य सलाह जारी कर लोगों से फिर से मास्क पहनने को कहा है. 

कहां कितने मामले मिले?
KP.1 के 34 मामले सात राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों में पाए गए हैं, जिनमें से 23 मामले पश्चिम बंगाल से दर्ज किए गए हैं. महाराष्ट्र से KP.1 के 4 मामले, राजस्थान एवं गुजरात से 2-2 और गोवा, हरियाणा और उत्तराखंड से 1-1 मामला सामने आया है. इसी प्रकार INSACOG ने देश भर में KP.2 के तकरीबन 290 मामलों का पता लगाया है, जिनमें अकेले महाराष्ट्र से 148 मामले सम्मिलित हैं. KP.2 सब-वैरिएंट वाले अन्य राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेश में पश्चिम बंगाल में 36, गुजरात में 23, राजस्थान में 21, उत्तराखंड में 16, ओडिशा में 17, गोवा में 12, उत्तर प्रदेश में 8, कर्नाटक में 4, हरियाणा में 3, मध्य प्रदेश और दिल्ली में 1-1 मामला सामने आया है.

गिरफ्तार हुआ दिल्ली मेट्रो में केजरीवाल पर धमकी भरे मैसेज लिखने वाला युवक

'बेटी ने हड़पे 78 वर्षीय मां के सारे पैसे, घर से निकाला', अब कोर्ट ने सुनाया ये फैसला

MP नर्सिंग कॉलेज घोटाले में ध्वस्त हुआ रिश्वतखोरी का बड़ा रैकेट, CBI अफसर से लेकर नर्सिंग कॉलेजों के चेयरमैन तक हुए गिरफ्तार

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -