अमेरिका के DNA में है नस्लीय भेदभाव : ओबामा

वाशिंगटन : अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अमेरिका को लेकर बहुत ही महत्वपूर्ण बयान दिया है। इस दौरान उन्होंने अमेरिका में होने वाले नस्लभेद को सामने रखते हुए कहा कि अमेरिका द्वारा अपनी नस्लीय मानसिकता से उबरने का प्रयास नहीं किया गया है। इस दौरान कहा गया है कि यह तो देश के डीएनए में ही है। उल्लेखनीय है कि राष्ट्रपति चाल्र्सटन के अश्वेत चर्च में हमले को लेकर उपस्थितों को संबोधित कर रहे थे। दरअसल यह एक तरह का नस्लभेदी हमला था। जिसमें अश्वेतों को निशाना बनाया गया था। उन्होंने कहा कि हमें एक ऐसा माहौल तैयार करना होगा जो 21 वर्ष के बच्चों को कुछ भी गलत करने से रोक सकता है।

मामले को लेकर कहा गया है कि अश्वेत और श्वेत मानसिकता अमेरिका के डीएनए में ही है। इससे देश अभी तक उबरा नहीं है। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष 200 से 300 वर्षों में जिस तरह से नस्लभेद को लेकर बातें सामने आई हैं उसे एक दिन में समाप्त नहीं किया जा सकेगा।

दूसरी ओर ओबामा द्वारा कहा गया कि अमेरिका में नस्लवाद को लेकर नजरिए में महत्वपूर्ण बदलाव हुआ है इस दौरान कहा गया है कि उनकी मां श्वेत थी और पिता अश्वेत थे। इसके बाद उन्होंने एक बदलाव महसूस किया। आखिर परिवर्तन एकदम नहीं आता है। इसमें समय लगता है। राष्ट्रपति ने साक्षात्कार में बंदूक को नियंत्रित करने और हर बार इसका प्रयोग न करने की बात पर जोर दिया है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -