गोहत्या का मुद्दा भी नेताओं-कार्यकर्ताओं की तरह इम्पोर्ट कर रही BJP -नितीश

गोहत्या का मुद्दा भी नेताओं-कार्यकर्ताओं की तरह इम्पोर्ट कर रही BJP -नितीश

पटना : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गोमांस से जुड़े सवाल पर कहा है कि भाजपा इस मुद्दे को भी अपने नेताओं और कार्यकर्ताओं की तरह इम्पोर्ट करने में लगी है. नितीश ने कहा बिहार में गोमांस को लेकर कोई मुद्दा कभी उठा ही नही है. मिडिया से बातचीत में नितीश ने कहा की बिहार में 1955 में ही गोहत्या पर प्रतिबंध लगा दिया गया था.

उन्होंने कहा की अभी तक उनके शासन कल में आज तक गोमांस का कोई मुद्दा सामने नहीं आया है. जब नीतीश कुमार को भाजपा नेता सुशील मोदी द्वारा किये गए वादे को याद दिलाया गया जिसमे उन्होंने कहा था की बिहार में भाजपा की सरकार आने पर गोहत्या पर प्रतिबंध लगा दिया जाएगा. उनके इस वादे पर नितीश ने कहा, 'इस बात पर तो सिर्फ हंसा ही जा सकता है, क्योंकि बिहार में 1955 से ही गोहत्या पर प्रतिबंध है.'

भाजपा पर तंज कस्ते हुए नीतीश ने कहा,"'भाजपा की दिलचस्पी विकास में नहीं है. उसकी राजनीति समाज को बांटकर राज करने की रही है. पहले उसे इसका फायदा मिल चुका है." नीतीश ने भाजपा पर आरोप लगते हुए कहा की भाजपा अपनी विभाजनकारी नीतियों के कारण ही इस तरह के मुद्दे उठा रही है. नीतीश ने कहा, "बिहार में चारो और सद्भाव का माहौल है. यहां भाजपा की दाल नहीं गलने वाली है." उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी 'विकास' शब्द का प्रयोग सिर्फ मुखौटे के तौर पर करती है.