नई दिल्ली: स्टेट ऑफिस की हत्या के मामले को पुलिस ने 48 घंटे के भीतर सुलझाया

नई दिल्ली: एनडीएमसी के स्टेट अफसर एमएम खान की हत्या का मामला पुलिस द्वारा सुलझा लिया गया है. स्टेट अफसर की हत्या क्नॉट प्लेस के क्नॉट होटल के मालिक द्वारा शूटर्स से करवाई गयी थी. जिसके लिए होटल मालिक ने शूटर्स को खान की हत्या के लिए 2 लाख की सुपारी दी थी. 

दरअसल एनडीएमसी क्नॉट होटल सफदरगंज निवासी रमेश कक्कड़(47) को 30 साल की लीज पर दिया गया था. जिसके बाद एनडीएमसी द्वारा रमेश को 140 करोड़ की रिकवरी के साथ होटल कहानी करने का नोटिस भेज गया था. जिसके बाद रमेश द्वारा होटल पर अवैध कब्ज़ा करते हुए कोर्ट में मुकदमा दायर किया गया. जहां कोर्ट द्वारा फैसला आरोपी रमेश के खिलाफ सुनाया गया. 

जिसके बाद आरोपी हाई कोर्ट पंहुचा था. जहां हाई कोर्ट द्वारा 21 जुलाई 2015 को एनडीएमसी के प्रवक्ता एमएम खान को स्टेट अफसर नियुक्त करते हुए मामले की जाँच सौंपी गयी थी. हाई कोर्ट ने एमएम खान को 6 महीने के अंदर मामले में फैसला देने के निर्देश दिए थे. जिस पर अमल करते हुए एमएम खान द्वारा मामले में 17 मई को निष्पक्ष फैसला दिया जाना था. 

फैसला निसंदेह रमेश कक्कड़ के खिलाफ आने वाला था. इसी बात से भयभीत हो कर रमेश ने अपने निजी पीएसओ रामफूल(46) द्वारा हत्या खान की हत्या की सुपारी दी गयी. दोनों के बीच करीब 2 लाख रूपए सुपारी की रकम तय की गयी थी. 

जिसके बाद रामफूल ने अपने साथी इसराइल, अनवर, सलीम और आमिर के साथ मिल कर एमएम खान की गोली मार कर हत्या कर दी गयी थी. जिसके बाद पुलिस द्वारा मामले को 48 घंटे के भीतर सुलझते हुए रमेश कक्कड़ सहित 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. एक आरोपी अब भी पुलिस की गिरफ्त से बहार है. 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -