नेपाल का स्वाभिमान बड़ा, भारत से कहा- नहीं चाहिए जूठन

May 06 2015 06:29 AM
नेपाल का स्वाभिमान बड़ा, भारत से कहा- नहीं चाहिए जूठन

काठमांडू : नेपाल में आये विनाशकारी भूकंप की मार से पूरा नेपाल त्रासदी से जूझ रहा है। भारत की और से की जा रही मदद का नेपाल ने कड़ा जवाब दिया है। भारत ने नेपाल में आपदा कोष के नाम से भेजे गए पुराने कपड़े लेने से मना कर दिया है। नेपाल ने कहा है कि पुराने कपड़े और बचा हुआ खाना भेजने की जरूरत नहीं है। नेपाल द्वारा भारत से भेजी गई मदद को ठुकराए जाने का मामला तब सामने आया, जब मदद सामग्री से भरी रेलगाड़ी बीरगंज पहुंची।

नेपाली अफसरों ने कहा कि राहत सामग्री में उन्हें आपत्तिजनक वस्तुएं मिलीं है। भारतीय अधिकारियों ने कहा कि नेपाल ने न सिर्फ कपड़े और खाना भेजने से मना किया है, बल्कि यह भी कहा कि जूठन किसी को नहीं दी जानी चाहिए। हिमालयन टर्मिनल्स प्राइवेट लिमिटेड के सीईओ बी. मोहन ने कहा कि हमने सामग्री में से कपड़े हटा दिए हैं और उन्हें पोर्ट पर ही फेंक दिया है।