+

किसान के खेत से 30,000 रु के प्याज चोरी, पुलिस ने दर्ज की रिपोर्ट

Dec 04 2019 12:02 PM
किसान के खेत से 30,000 रु के प्याज चोरी, पुलिस ने दर्ज की रिपोर्ट

पूरे देश को इस समय प्याज रुला रहा है. लगातार जहां प्यास के दाम आसमान छू रहें हैं. वहीं, दूसरी और मंदसौर के रिचा गांव के एक किसान ने आरोप लगाया है कि उसके खेत से लगभग 30,000 रुपये की प्याज की फसल को उखाड़कर चोरी कर लिया गया है. किसान जितेंद्र कुमार ने इस संबंध में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है और उसने कहा है कि 1.6 एकड़ जमीन पर प्याज बोए गए थे.अब वो जल्द ही अपनी फसल काटने की योजना बना ही रहा था. लेकिन, उससे पहले ही चोरों ने सब चुरा लिया। पुलिस अधिकारी ने खेत का दौरा किया और मामले में जांच शुरू कर दी है.
 

सीएम बेअंत सिंह हत्याकांड : राजोआणा की फांसी माफी पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के बयान ने मचाई खलबली

अपने बयान में सहायक पुलिस अधीक्षक ने कहा कि उन्होंने 30,000 रुपये की प्याज की फसल चोरी होने की शिकायत दर्ज कर ली है. उन्होंने आगे बताया कि एसएचओ किसान के खेत में गए थे और वहां का पूरा दौरा किया था जैसे ही हमें और अधिक जानकारी एकत्र करेंगे, आगे की कार्रवाई की जाएगी.

प्रियंका गांधी वाड्रा ने योगी सरकार पर किया हमला, कहा- दुष्कर्म हुआ था लेकिन,शासन इतने दिन तक...

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि ऐसे समय में जब प्याज की कीमतें 100 रुपये प्रति किलोग्राम तक बढ़ रही हैं, देश के विभिन्न हिस्सों से प्याज की चोरी के कई मामले सामने आए हैं. इसके अलावा मध्य प्रदेश में, नासिक से गोरखपुर जाते समय 20 लाख रुपये का प्याज से भरा ट्रक चोरी हो गया. प्याज के दामों में लगातार उछाल हो रहा है. सस्ता प्याज की आवक नाममात्र की ही रह गई है. सितंबर महीने तक प्याज 20 रुपये किलो तक बिक रहा था. सोमवार को कई स्थानों पर 120 रुपये किलो तक प्याज के दाम पहुंच गए थे. थोक बाजार में भी प्याज के दाम 80 से 85 रुपये किलो तक पहुंच गए थे. इतना ही नहीं, मंडी समिति ने शहर भर में लगभग 11 बिक्री केंद्रों पर भी सोनवार को नए प्याज के दाम 57 रुपये प्रतिकिलो तक पहुंच गए हैं. साथ ही बिक्री केंद्र की संख्या भी घट गई है. 

इसरो प्रमुख का दावा- नासा से पहले खोज लिया था अपना ऑर्बिटर...

आपसी विवाद के चलते ITBP के जवानों एक-दूसरे पर कर दी फायरिंग और गोलाबारी, 6 जवानों की मौत...

अमित शाह : केंद्रीय कैबिनेट में इस महत्वपूर्ण विधेयक पर होगी चर्चा