जब तक अंबेडकर का नाम जीवित है, तब तक कोई ख़त्म नही कर सकता आरक्षण : मोदी

Feb 03 2016 09:33 AM
जब तक अंबेडकर का नाम जीवित है, तब तक कोई ख़त्म नही कर सकता आरक्षण : मोदी

नई दिल्ली : आरक्षण ख़त्म किये जाने कि संभावनाओ को एक सिरे से ख़ारिज करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रमुख विपक्षी कांग्रेस पर जमकर हमला बोला और कहा कि यह देश को बांटने कि एक सोंची समझी साजिश है जिसके तहत दलितों के मुद्दे पर झूठ का अभियान चलाया जा रहा है. पीएम मोदी ने कहा, दलितों के नाम पर झूठ फैलाया जा रहा है. जब भी वो, जहां भी जाते है, झूठ बोलते हैं. यह दलितों को मुर्ख बनाकर गुमराह कर रहे है, जो कि देश को बांटने कि सोची समझी साजिश है, ताकि लोग एक दूसरे से लड़ें. वे लोग खुश नही है क्योंकि उनसे सत्ता ले ली गयी है. वे हमेशा मानते थे कि वे (दलित) उनके मतदाता हैं और अब मोदी उनके लिए काम कर रहा है. वे दलितों को मोदी का समर्थन करने से रोकना चाहते हैं.

हालांकि मोदी ने किसी का नाम लिए बगैर ही हमला बोला लेकिन इशारो इशारो में ऐसा लग रहा था कि पीएम मोदी कांग्रेस और उसके उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साध रहे है जो दलित शोध छात्र रोहित वेमुला की आत्महत्या को लेकर आंदोलन में शामिल होने के लिए हाल ही में दो बार हैदराबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय गए. जानकारी दे कि प्रधानमंत्री मोदी ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए हमला किया. उम्मीद थी कि इस रैली से बीजेपी तमिलनाडु के आगामी विधानसभा चुनाव के लिए अपना अभियान शुरू करेगी, लेकिन उन्होंने स्थानीय राजनीति से पूरी तरह परहेज किया. इतना ही नही

पीएम मोदी ने मौके का बखूबी से फायदा उठाते हुए कहा कि लोगो के सामने यह झूठ फैलाया जा रहा है कि मोदी दलितों, ओबीसी, वंचितों से आरक्षण वापस लेने जा रहे हैं. कृपया मेरी बात को गौर से सुनिए. मैं देश को आश्वस्त करता हूं कि जब तक डॉ बी आर अंबेडकर का नाम जीवित है, तब तक कोई भी आरक्षण नहीं हटा सकता.’ उन्होंने अंबेडकर की 125वीं जयंती के सिलसिले में अपनी सरकार द्वारा उठाए गए विभिन्न कदमों और पहलों का भी जिक्र किया.

उन्होंने कहा कि देश की प्रगति के लिए एकता, सौहार्द और शांति आवश्यक है. पीएम मोदी ने राज्यसभा की कार्यवाही बाधित करने को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा और कहा कि जब से एक चाय बेचने वाला केंद्र की सत्ता में आया है, विपक्षी पार्टी हार और सत्ता से हटने को पचा नहीं पाई है.

कांग्रेस द्वारा राज्यसभा में GST विधेयक को रोके जाने का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा, ‘पिछले 19 महीनों में, किसी के खिलाफ भ्रष्टाचार का कोई आरोप नहीं लगा है. कोई घोटाला नहीं. वे लोग चिंतित हैं हम मोदी के साथ क्या करें. इसलिए उन्होंने फैसला किया कि राज्यसभा को नहीं चलने देंगे. हम मोदी को रोकेंगे. वहां कई विधेयक लंबित हैं. यह कैसी राजनीति है.