झीरम कांड : नंदकुमार के बेटे ने पिता के हत्यारों की खोज में किया जीवन समर्पित

रायपुर : करीब 2 साल पहले झीरम घाटी के नक्सली हमले में शहीद तत्कालीन प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नंद कुमार पटेल के बेटे विधायक उमेश पटेल ने अपने पिता के हत्यारों की खोज में अपने जीवन को समर्पित करने का ऐलान कर दिया है. उमेश ने कहा 'राजनीति मेरा लक्ष्य नहीं है. मैं हत्यारों का पर्दाफाश करने के लिए राजनीति में हूं. और इसके लिए मैं राष्ट्रपति से मिलूंगा और जरूरत पड़ी तो सुप्रीम कोर्ट भी जाऊंगा.

उन्होंने कहा कि मेरे पिता उस समय मुख्यमंत्री पद के दावेदार थे इस कारण वे कई लोगों के लिए खतरा बनते जा रहे थे. इसलिए उनकी हत्या कराई गई. उमेश ने कहा कि घटना के पीड़ित लोगों को एकजुट करके यह लड़ाई लड़ी जाएगी.

उमेश ने कहा कि NIA ने अपनी जांच रिपोर्ट में बताया है कि आतंक फैलाने के लिए नक्सलियों ने वारदात को अंजाम दिया. इस रिपोर्ट को स्वीकार नहीं किया जा सकता क्योंकि यह टारगेट किलिंग है. उन्होंने कहा कि प्रत्यक्षदर्शियों ने उस समय बयान दिया था कि नंद कुमार पटेल और दिनेश पटेल को पहाड़ी के पीछे ले जाकर उनकी पहचान की गई. पहचान करने के बाद उनको मारा गया.

उमेश ने कहा कि पिता की बरसी के एक दिन पहले एक नक्सली किरण से बयान दिलवा दिया गया कि मेरे पिता की हत्या क्रॉस फायरिंग में हुई है इसका सीधा अर्थ है कि या ताे वह इस मुठभेड़ में शामिल नहीं था, या फिर उससे जबरदस्ती बयान दिलवाया जा रहा है. सब कुछ पानी की तरह साफ है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -