समुद्र में हजारों साल पहले बनी 'ग्रेट ब्लू होल' गुफा, धरती की है सबसे अद्भुत जगह

धरती पर कई अद्भुत और रहस्यमय जगहें हैं, जिसके खुलासे आज तक कोई नहीं कर पाया है. ऐसी ही एक जगह मध्य अमेरिकी देश बेलीज में भी है, जिसे 'ग्रेट ब्लू होल' कहा जाता है। असल में यह एक गोलाकार गुफा है, जो समुद्र में बनी हुई है। इसका व्यास 318 मीटर है और गहराई 125 मीटर है। इस समुद्री गुफा को स्कूबा डाइविंग के लिए दुनिया के सर्वोत्तम जगहों में से एक माना जाता है। यही कारण है कि यहां अक्सर दुनियाभर से लोग आते रहते हैं। ये भी माना जाता है कि 'ग्रेट ब्लू होल' का निर्माण करीब डेढ़ लाख साल पहले से लेकर 15 हजार साल पहले तक कुल चार चरणों में हुआ था। उस वक्त यहां समुद्र का स्तर काफी कम था, जिस वजह से यह गुफा समुद्र के ऊपर दिखाई देती थी। बाद में जब समुद्र का स्तर बढ़ा तो यह गुफा भी पूरी तरह पानी में डूब गई.

आपको बता दें की यह गुफा चूने से बनी है और इसके भीतर कई तरह की मछलियां और अन्य समुद्री जीवों की प्रजातियां पाई जाती हैं। दुनियाभर के गोताखोर यहां पानी के नीचे के टीलों और स्टैलेक्टाइट फॉर्मेशन को देखने के लिए आते हैं और इसके रहस्यों को समझने की कोशिश करते हैं। आपको ये जानकर हैरानी होगी कि 'ग्रेट ब्लू होल' के अंदर कई गुफाएं मौजूद हैं.  

'ग्रेट ब्लू होल' को पूरी दुनिया में प्रसिद्ध करने का श्रेय फ्रांस के वैज्ञानिक जैक्स कॉस्ट्यू को दिया जाता है। उन्होंने इसके रहस्यों का खुलासा करते हुए इस जगह को दुनिया के शीर्ष पांच स्कूबा डाइविंग जगहों में से एक घोषित किया था। साल 1971 में वो अपना जहाज लेकर इस समुद्री गुफा की गहराई नापने आए थे. साल 2012 में डिस्कवरी चैनल ने 'पृथ्वी की 10 सबसे अद्भुत जगहों' की सूची में 'ग्रेट ब्लू होल' को पहले स्थान पर रखा था। आश्चर्य से भरी यह जगह यूनेस्को की विश्व विरासत स्थलों में से एक बेलीज बैरियर रीफ सिस्टम का हिस्सा है। यह दुनिया का अपनी तरह का सबसे बड़ा प्राकृतिक निर्माण है.

मोर ने हवा में लगाई ऐसी छलांग, ये देख सब रह गए हैरान

दिल्ली के एयरपोर्ट पर इस तरह घूमती नजर आई नीलगाय, तस्वीरें हुई वायरल

लॉकडाउन में खुद को रिलैक्स रखने के लिए यह शख्स ने निकला अनोखा तरीका

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -