इस गांव में नहीं रह सकते मुस्लिम? नहीं किया घर खाली तो ग्रामीणों ने की पिटाई

इंदौर: मध्य प्रदेश में इंदौर के समीप कम्पेल ग्रामपंचायत में रहने वाले 7 व्यक्तियों के एक मुस्लिम परिवार को शनिवार रात को भीड़ द्वारा पीटने तथा धमकाने की घटना सामने आई है। परिवार के सदस्यों ने आरोप लगाया कि भीड़ ने उन्हें घर खाली करने तथा गांव छोड़ने की धमकी देते हुए उनकी मारपीट की थी। परिवार ने आरोप लगाया है कि व्यक्तियों ने जय श्री राम के नारे लगाकर उनकी मारपीट की क्योंकि उन्होंने घर खाली नहीं किया था। उन्हें एक माहों पूर्व समूह द्वारा घर छोड़ने की चेतावनी दी गई थी।

हालांकि, पुलिस ने बताया कि रूपये को लेकर दोनों समूहों में झगड़ा हो गया था तथा दोनों पक्षों की तरफ से एक दूसरे के विरुद्ध शिकायत दर्ज की गई थी। लगभग दो वर्ष पूर्व नीमर से कम्पेल आए लोहार परिवार रोजी-रोटी के लिए ट्रॉली तथा अन्य कृषि उपकरण बनाता था। भीड़ द्वारा पीटे गए 46 साल के फारूख लोहारे के पुत्र शाहरुख लोहार ने कहा, "वे भीतर आए तथा पास में पड़ी छड़ों से हमें पीटना आरम्भ कर दिया। उन्होंने मेरे पिता को कई बार मारा एवं जब मेरे चाचा ने उन्हें रोकना चाहा तो किया तो उन्होंने उन्हें यह करते हुए पीटा कि 'हमने आपको खाली करने के लिए बोला था अब उन्हें इसके लिए गंभीर नतीजे भुगतने होंगे'।

वही इस पूरी घटना के पश्चात् परिजन खुदेल पुलिस स्टेशन पहुंचे जहां से उन्हें मेडिकल परीक्षण के लिए इंदौर के महाराजा यशवंतराव हॉस्पिटल भेजा गया तथा बाद में उनकी शिकायत के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की गई। शाहरुख के मुताबिक, जब पहले गांव के व्यक्तियों ने परिवार को गांव खाली करने तथा छोड़ने की धमकी दी थी, तो उन्होंने ग्राम पंचायत से संपर्क किया तथा सरपंच को इस बारे में सूचित किया था।

हॉकी इंडिया के फैसले से नाराज हुए खेल मंत्री, बोले- सरकार से पूछना चाहिए था...

गांजा के खिलाफ एक्शन में आई पुलिस, जब्त किया लाखों का गांजा

दुर्गा पूजा के दौरान बंगाल में जारी हुआ आतंक का अलर्ट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -