मुस्लिम युवक ने दी धर्मनिरपेक्षता की नई मिसाल, किया हिंदू दोस्त का अंतिम संस्कार

बैतूल : बैतूल में एक मुस्लिम युवक धर्मनिरपेक्षता का एक बेहतरीन उदाहरण पेश किया है. इसने अपने हिंदू दोस्त की मौत के बाद पूरे विधि विधान से उसका अंतिम संस्कार किया और मुखाग्नि भी दी. मृतक के परिवार का कोई पुरुष सदस्य उपलब्ध नहीं होने पर मुस्लिम दोस्त ने ही उसके अंतिम संस्कार का पूरा खर्चा उठाया. संतोष सिंह नामक युवक हरदा से बैतूल में मजदूरी करने आया था. संतोष पिछले कुछ समय से काफी बीमार था. इलाज के बावजूद उसकी तबीयत नहीं सुधरी और आखिरकार उसकी मौत हो गई.

संतोष के परिवार में पत्नी और एक बेटी ही हैं, जिनकी आर्थिक स्थिति बेहद खराब है. इन हालात को देखते हुए संतोष के साथ मजदूरी करने वाला उसका एक करीबी दोस्त रज्जाक खान ने आगे आकर उसका अंतिम संस्कार किया. रज्जाक बताते है कि संतोष और उसके दोस्ती में धर्म कभी आड़े नहीं आया. वो बताते है कि संतोष की कमी उन्हे सारी उम्र खलेगी. बस उन्हें इस बात की खुशी है कि मुखाग्नि देकर उसने अपने दोस्त को अंतिम विदाई दी.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -