धर्मस्थल बचाने के लिए कारसेवकों पर चलानी पड़ी गोली, मगर होता है अफसोस

Jan 25 2016 10:53 AM
धर्मस्थल बचाने के लिए कारसेवकों पर चलानी पड़ी गोली, मगर होता है अफसोस

लखनऊ : समाजवादी पार्टी के प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने उत्तरप्रदेश सरकार के मंत्रियों और सपा नेताओं से असंतुष्टि जाहिर की है। उन्होंने कहा कि मंत्रियों का आचरण नहीं सुधरा है। मंत्रियों में किसी भी तरह का सुधार नहीं हुआ है। इसके अलावा मुलायम सिंह यादव द्वारा कहा गया कि वे अयोध्या में कारसेवकों पर गोली चलवाने से दुखी हैं लेकिन धर्मस्थलों को बचाना भी बेहद जरूरी था जिसके लिए स्थिति को नियंत्रण में लेने हेतु उन्हें गोली चलानी पड़ी। उन्होंने कहा कि धर्मस्थल को बचाना भी काफी आवश्यक था।

गोलीबारी की घटना पर अफसोस जताते हुए उन्होंने कहा कि इस घटना में करीब 16 लोग मारे गए थे। सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने कहा कि यदि और जाने भी जाती तो भी वे अयोध्या के धर्मस्थल का संरक्षण करते। उनका कहना था कि इसी वजह से बाद में मैंने नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे दिया था। मुलायम के इन बयानों को आगामी वर्ष 2017 में विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर देखा जा रहा है।

मुलायम ने विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय की ओर इशारा करते हुए कहा कि वे जब चुनाव लड़ते हैं तो बड़े पैमाने पर लोग धन देते हैं। उनके पास जनाधार है वे अकेले चले और जनाधार एकत्रित किया। उन्होंने राम मनोहर लोहिया और कर्पूरी ठाकुर से जुड़ी यादें भी साझा कीं।