Share:
जोर पकड़ने लगी BSNL और MTNL के  विलय की मांग
जोर पकड़ने लगी BSNL और MTNL के विलय की मांग

नई दिल्ली : सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनियों एमटीएनएल और बीएसएनएल के विलय की मांग जोर पकड़ने लगी है. महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड यानी एमटीएनएल के चेयरमैन व एमडी पीके पुरवार ने कहा कि बेहद प्रतिस्पर्धी दूरसंचार बाजार में अखिल भारतीय स्तर पर मजबूत स्थिति के लिए यह विलय जरूरी है.

उल्लेखनीय है कि  बीएसएनएल-एमटीएनएल के विलय को लेकर चर्चा चल रही है.एक संसदीय समिति का कहना है कि दूरसंचार विभाग के इस विलय प्रस्ताव को जून में केंद्रीय मंत्रिमंडल के समक्ष रखने की योजना है.चैयरमेन पुरवार ने कहा कि बीएसएनएल और एमटीएनएल दोनों का विलय वांछित है. बता दें कि एमटीएनएल दिल्ली व मुंबई में टेलिकॉम सेवाएं मुहैया कराने वाली सरकारी कंपनी है. यह कंपनी भारी घाटे में चल रही है.

स्मरण रहे कि संसद की एक समिति ने बीएसएनएल और एमटीएनएल के विलय का सुझाव दिया था. संसद की एक स्थाई समिति के अनुसार इन कंपनियों की लम्बी सफलता के लिए यह विलय एक अच्छा प्रस्ताव हो सकता है. यदि इन दोनों कंपनियों का विलय होता है, तो एमटीएनएल खत्म होकर सिर्फ बीएसएनएल रह जाएगी. यदि ये कंपनियां विलय कर लेती हैं, तो ये दोनों कंपनियां न केवल बाजार में मौजूद बड़ी कंपनियों के साथ मुकाबला कर पाएंगी. बल्कि इनकी सेवाओं में भी सुधार हो जाएगा. अगर ये विलय न भी करना चाहें, तो टेक्नोलॉजिक एडवांसमेंट और नेटवर्क इम्प्रूवमेंट करने के साथ इन कंपनियों को वन-टाइम फंड मुहैया कराया जाए, जिससे इनकी सेवाओं में सुधार आ सके.

यह भी देखें

जिओ को टक्कर देने MTNL लाया धमाकेदार ऑफर

बीएसएनएल के 1 जीबी इंटरनेट डाटा का बिल्कुल फ्री लाभ उठाएं

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -