माँ एक अनमोल शब्द

माँ शब्द ही बहुत प्यारा है इस शब्द के साथ बहुत सी भावनाएँ जुड़ी हुई है। आप माँ को चाहे किसी भी नाम से पुकार लें। माँ, अम्मा, आई, मम्मी, मैया सभी नमो में माँ के लिए प्रेम छुपा है। जिस प्रकार भगवान ने माँ को बनाया उसी प्रकार माँ हमारे लिए भगवान के बराबर है। माँ के विषय में जितना कहा जाए कम है।

 

माँ के लिए कुछ पंक्तियां लिखना चाहूंगी:–

"माँ वो है जो हमें कष्ट सहकर जन्म देती है।

माँ वो है जो हमें सही राह दिखाती है।

माँ वो है जो हमें योग्य इंसान बनाती है।

माँ वो है जो हमारे कष्ट को अपना बनाती है।

माँ वो है जो सुख दुख में हमारी साथी कहलाती है।

माँ वो है जो हमें डांट से बचाती है।

माँ वो है जो हमारे सुख के लिए अपने सुख का त्याग करती है।

माँ वो है जो सभी बात समझ जाती है।

माँ वो है जो रातभर जागकर हमारी आँखों में नींद लाती है।

माँ के बारे में क्या कहूँ मेरी आँखें भर आती है।"

ये पंक्तियां उतनी ही सच्ची है जितना माँ के लिए हम सभी का प्रेम। माँ के कुछ दिनों के लिए बाहर जाने पर ही घर सुना–सुना लगने लगता है, ऐसा लगता है मानो घर की रौनक ही चली गई हो।

माँ ऐसी शक्स है जो हमारे जीवन को खुशियों से भर देती है। बिना कुछ मांगे ही माँ समझ जाती है कि हमे क्या चाहिए। किसी ने सच ही कहा है:–

"यदि मेरी किस्मत लिखने का हक मेरी माँ को होता तो मेरी जिंदगी में कभी कोई गम ना होता"

 

माँ हमारी सबसे बड़ी दौलत होती है। माँ से बड़ी शौहरत कोई क्या ही देगा हमे। माँ जैसा प्यार हमे और कोई नही कर सकता क्यूंकि माँ हमे तब से प्यार करती है जब से उसने हमे देखा भी नहीं था।

 

माँ हमारी सबसे पहली शिक्षक होती है। हमे जीवन के हर उतार–चढ़ाव के बारे में सिखाती है। बचपन से ही हम में संस्कार डालती है। दूसरो का आदर करना सिखाती है। हम चाह कर भी माँ का कर्ज़ नही उतार सकते।

 

आपने सुना ही होगा "माँ तो माँ होती है"। न केवल मनुष्यो में बल्कि समस्त जीव जंतुओं में भी आपने एक माँ का अपने बच्चे के प्रति प्रेम देखा होगा। माँ चाहे खुद भूखी रह लें लेकिन हमें कभी भूखा नहीं सोने देती। खुद सारे दुख–दर्द झेल कर हमे सारी खुशियाँ देती हैं।

माँ की जितनी तारीफ़ की जाए कम ही है। "माँ से ही जीवन है और माँ ही हमारा जीवन है।" अंत में माँ के लिए एक सुंदर पंक्ति लिखना चाहूंगी। 

"मांगने पर जहां पूरी हर मन्नत होती हैं माँ के पैरों में ही तो वो जन्नत होती है।"

 

पूरा लेख पढ़ने के लिए धन्यवाद। आशा करती हूं आपको यह लेख पसंद आया होगा।

 

अम्मा की दुर्दशा : कविता के कैमरे से

 

बेटे की विदाई

 

मातृ दिवस की शुभकामनाएं

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -