बारिश की फुहार से चमके किसानों के चेहरे

बारिश की फुहार से चमके किसानों के चेहरे

मानसून के सीजन के कमजोर रहने के कारण किसानों की मुश्किलें बढ़ गई थी वहीँ दूसरी ओर अब यह भी सामने आ रहा है कि मौसम वैज्ञानिकों की भविष्यवाणी को झुठलाते हुए मानसून ने फिर से वापसी की है. और इस वापसी के साथ ही मध्य भारत, पश्चिम भारत, उत्तर-पश्चिम भारत और पूर्वोत्तर भारत के सभी इलाके बारिश की रिमझिम फुहारों से रौनक हो गए है. इस बारिश ने किसानों के चेहरों पर भी एक ठंडी सी ख़ुशी बिखेर दी है.

गौरतलब है कि मौसम विभाग ने भविष्यवाणी करते हुए यह कहा था कि 4 सितम्बर तक पश्चिम राजस्थान के कई इलाकों से मानसून पीछे हट जायेगा लेकिन अब हवाओं ने अपना असर दिखाया है और यहाँ देश के कई इलाको में बारिश देखने को मिली है. इसके साथ ही अब देश में बारिश की सम्भवनाएं भी बढ़ गयी है और साथ ही इस मामले में किसानों को अच्छी फसल की उम्मीद भी बढ़ गई है.

कहा जा रहा है कि गुजरात के बाद अब बारिश का रुख उत्तर भारत की तरफ हो रहा है. इसके साथ ही यह भी कहा गया है कि राजस्थान, पंजाब और जम्मू-कश्मीर के कई इलाकों में आने वाले 2 से 3 दिनों तक बारिश का अनुमान लगाया जा रहा है.