जम्मू-कश्मीर में RSS की नीतियां थोप रही है केंद्र सरकार

लखनऊ : बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख और उत्तरप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने उत्तरप्रदेश चुनाव के पहले भारतीय जनता पार्टी को आड़े हाथों लिया है। उन्होंने जम्मू-कश्मीर के हालात तनावपूर्ण होने को लेकर सवाल किए हैं। उन्होंने कहा है कि 114 दिनों से जिस तरह से अस्थिरता जारी है उसके लिए आरएसएस और केंद्र सरकार की नीतियां जिम्मेदार हैं। आरएसएस ने जो एजेंडा थोपा है उससे हालात बिगड़े हैं। मायावती ने जम्मू - कश्मीर राज्य में भारतीय जनता, पार्टी पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की गठबंधन सरकार के अतिरिक्त केंद्र सरकार को जवाबदार बताया है।

सांसद मायावती का कहना था कि जम्मू-कश्मीर में स्कूलों को जलाया जाना बेहद दुखद है। राज्य सरकार उपद्रव रोकने में विफल रही है। इस मामले में न्यायालय ने भी संज्ञान लेकर राज्य सरकार को असफल बताया है। उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाया कि वह आरएसएस का विभाजनकारी एजेंडा लोगों पर थोप रही है मगर लोगों का तो सरकार से विश्वास ही उठ गया है।

मायावती ने कहा कि केंद्र सरकार को लोगों के लिए शांति स्थापना के प्रयास करने चाहिए। सरकार को वहां के नागरिकों की चिंता होना चाहिए। उन्होंने अपील की कि वहां पर गरीबो के सामने भूखमरी के हालात हैं ऐसे में सरकार को हालात सामान्य करने के प्रयास तेजी से करने की जरूरत है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -