सप्ताह में केवल तीन दिन ही करनी चाहिए मालिश

जीवन में हर इंसान तन्दुरूस्त रहना चाहता है, इसके लिए वह अपने खान-पान व दिनचर्या को सुचारू बनाये रखता है। इनमें से कुछ लोग शरीर की मालिश भी करते हैं। शरीर की मालिश करने से मांस पेशियां मजबूत रहती हैं। देखा जाए तो यह मानव शरीर के लिए फायदेमंद भी होती है। लेकिन शास्त्र की अगर माने तो तेल मालिश करने के लिए भी कुछ खास नियमों का पालन करना भी जरूरी होता है। अगर आप इन नियमों के विरूध्द अपने शरीर पर तेल की मालिश करते हैं तो इससे आप कई तरह की समस्याओं से घिर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं उन नियमों के बारे में..

1. शरीर पर तेल मालिश नियमित दिनचर्या है। लेकिन शास्त्रों में कहा गया है कि सप्ताह में केवल तीन दिन ही मालिश करनी चाहिए। माना जाता है सोमवार, बुधवार और शनिवार को तेल की मालिश करना ज्योतिषी महत्व से लाभकारी होती है।

2. शास्त्रों के मुताबिक रविवार, मंगलवार, गुरुवार और शुक्रवार को तेल की मालिश नहीं करनी चाहिए। कहा जाता है इन दिनों मालिश करने से रोग होने की संभावना रहती है।

तैलाभ्यांगे रवौ ताप: सोमे शोभा कुजे मृति:।
बुधेधनं गुरौ हानि: शुझे दु:ख शनौ सुखम्॥

3. इस श्लोक में बताया गया है कि रविवार को तेल मालिश से गर्मी संबंधी बीमारी, सोमवार को मालिश से शरीर के सौन्दर्य में वृद्धि, मंगलवार को मालिश से मृत्यु भय, बुधवार को धन की प्राप्ति, गुरुवार को हानि, शुक्रवार को दु:ख और शनिवार को करने से सुख मिलता है।

4. रोजाना मालिश करने के लिए तेल में रविवार को फूल, मंगलवार को मिट्टी और शुक्रवार को गौमूत्र डाल लेने से बुरे परिणामों से बचा जा सकता है।

 

क्या आप भी रखते हैं अपनी जेब में रूमाल तो यह खबर जरूर पढ़ें

राशि के अनुसार जानें, कौन सी चीज रखें जेब में जो दे शुभ फल

मई के माह में यह 5 बातें आपको कई मुसीबतों से बचा लेगी

किस्मत में सरकारी नौकरी है अथवा नहीं ऐसे करें पता

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -