मकसूद बाघों के प्रति अपनी सनक के चलते ही मारा गया, केंद्र

नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली के चिड़ियाघर में एक सफेद बाघ के द्वारा आज से एक वर्ष पूर्व मकसूद (22) नाम के एक शख्स को अपने जबड़ो के द्वारा मौत के घाट उतार दिया था व इसका वीडियो भी काफी लोगो द्वारा देखा गया था जो की करीब 2 मिनट 26 सेकेंड का था. व आज केंद्र सरकार ने दोहराया की चिड़ियाघर में मौजूद इस सफेद बाघ का शिकार हुए मकसूद की मौत का जिम्मेदार वह स्वयं है जिसने की वहां पर चेतावनी को नजरअंदाज किया व दुर्घटनावश सफेद बाघ के बाड़े में जा गिरा. व वकील जसमीत सिंह जो की इस मामले में केंद्र सरकार के वकील है उन्होंने अपनी दी गई रिपोर्ट में समिति का मानना है की मकसूद बाघों के प्रति अपनी सनक के चलते ही दुर्घटनावश बाड़े में गिर गया. 

यह बात केंद्रीय प्राणिउद्यान प्राधिरकण के तरफ से नियुक्त की गई एक समिति ने दिल्ली हाईकोर्ट में अपनी और से प्रस्तुत की गई रिपोर्ट में कही. बता दे की मकसूद की पत्नी ने अपनी याचिका में कहा था की यह सरकार की लापरवाही है व मुझे इसके तहत सुरक्षा में चूक के चलते मुआवजा मिले, मृतक की पत्नी ने सरकार से पचास लाख रुपए के मुआवजे की मांग की थी.  

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -