WHO से 'हिसाब' मांगेगा भारत, कोरोना से हुई मौतों पर किया था विवादित दावा

नई दिल्ली: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय स्विट्जरलैंड के दावोस में जारी विश्व आर्थिक मंच (WEF) में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रतिनिधियों के साथ भारत में अतिरिक्त कोविड-19 मृत्यु दर के मामले पर अनौपचारिक बातचीत कर सकता है। इस मामले से जुड़े लोगों ने यह जानकारी दी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया इस वक़्त WEF में हिस्सा लेने के लिए अपने कुछ कैबिनेट सहयोगियों के साथ जिनेवा में मौजूद हैं। 

इस दौरान मंडाविया WHO के हालिया विवादास्पद दावे का मुद्दा उठा सकते हैं। दरअसल, कुछ दिनों पहले WHO ने भारत में कोरोना से होने वाली मौतों के आंकड़े जारी किए थे, जो भारत सरकार के आंकड़ों से बहुत ही अधिक थे। इसमें कहा गया था कि कोरोना के चलते भारत में 1 जनवरी, 2020 से 31 दिसंबर, 2021 के बीच 47 लाख लोगों की मौत हुई थीं। जबकि भारत सरकार के आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, यह संख्या करीब 520,000 बताई गई है। 

सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न छापने का आग्रह करते हुए बताया है कि, 'ऐसी संभावना है कि केंद्रीय मंत्री WEF में WHO के प्रतिनिधियों के साथ इस मुद्दे पर बातचीत कर सकते हैं। यह हाल ही में विवाद का विषय रहा है; जब WHO ने आंकड़े जारी किए, तो सरकार ने यह साफ तौर पर कह दिया था कि जिस प्रकार से कोविड से अधिक मौतों का अनुमान लगाया गया था, वह उससे सहमत नहीं है। इस मुद्दे के बारे में भारत अब WHO से व्यक्तिगत तौर पर चर्चा कर सकता है।'

पंजाब की पुलिस अकादमी में ड्रग्स का रैकेट, पांच कांस्टेबल हिरासत में, महिला पेडलर गिरफ्तार

बच्ची को चढाने के लिए ढाई हज़ार में ख़रीदा खून, डॉक्टर ने कहा- ये तो ब्लड है ही नहीं...

तिरंगे का अपमान, जमीन पर बिछाकर नमाज अदा कर रहा था मोहम्मद तारिक अजीज

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -