'राजनीति से ब्रेक लें राहुल..', चाची मेनका गांधी ने पहली बार साधा निशाना, रॉबर्ट वाड्रा पर बोलीं- देश दामादों से आगे बढ़ चुका
'राजनीति से ब्रेक लें राहुल..', चाची मेनका गांधी ने पहली बार साधा निशाना, रॉबर्ट वाड्रा पर बोलीं- देश दामादों से आगे बढ़ चुका
Share:

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर से भाजपा उम्मीदवार और केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने कांग्रेस पार्टी और उनके नेताओं को जमकर घेरा। मेनका ने अपनी जेठानी और UPA चेयरपर्सन सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा पर भी हमला बोला। दरअसल, वाड्रा कई बार अमेठी सीट से चुनाव लड़ने की इच्छा जता चुके हैं। अब मेनका गांधी ने रॉबर्ट वाड्रा को लेकर कहा कि उन्हें सियासत का अनुभव नहीं है। बता दें कि, राजीव गांधी के भाई संजय गांधी की पत्नी मेनका गांधी ने संजय की मौत के बाद गांधी परिवार से दूरी बना ली थी और अपने बेटे वरुण को लेकर अलग हो गईं थी। यहाँ तक कि, उन्होंने कांग्रेस से भी किनारा कर लिया था और कभी भी मेनका, अपनी जेठानी सोनिया या भतीजे राहुल से मिलती हुई दिखाई नहीं देती हैं। 

मीडिया से बात करते हुए केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने रॉबर्ट वाड्रा और सोनिया गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि यह देश दामादों से आगे बढ़ चुका है। रॉबर्ट वाड्रा कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी के पति हैं। जब मेनका से सवाल किया गया कि रॉबर्ट वाड्रा अमेठी से चुनाव लड़ते हैं, तो वे कितनी टक्कर दे पाएंगे। इस पर मेनका गांधी ने कहा कि चुनाव के लिए राजनीतिक अनुभव आवश्यक है। ये देश दामादों की सियासत से आगे बढ़ चुका है। 

इसके साथ ही, मेनका गांधी ने अपनी जेठानी सोनिया गांधी के पुत्र यानी राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि उन्हें राजनीति से ब्रेक ले लेना चाहिए। कांग्रेस तभी आगे बढ़ सकती है, जब उसके पास कोई बड़ा आईडिया या नेता हो। उन्होंने प्रियंका गांधी वाड्रा को भी नहीं छोड़ा। जब उनसे पुछा गया कि, ऐसी अटकलें हैं कि प्रियंका अपनी मां की सीट रायबरेली से चुनावी मैदान में उतर सकती हैं। इस पर मेनका ने कहा कि वे आएं तो सही। उन्होंने कहा कि रायबरेली सीट से उनकी (प्रियंका की), दादी (इंदिरा गांधी), दादा (फिरोज गांधी), उनकी मां (सोनिया गांधी) चुनाव लड़ चुकी हैं और जीत चुकी हैं। इसलिए उस सीट पर परिवार का प्रभाव तो होगा ही।  

वरुण गांधी को भाजपा द्वारा प्रत्याशी नहीं बनाए जाने पर मेनका गांधी ने कहा कि यह पार्टी का फैसला है। 2019 के लोकसभा चुनाव में वरुण गांधी ने उत्तर प्रदेश की पीलीभीत सीट से मैदान में थे। वरुण गांधी के कांग्रेस से लड़ने के सवाल पर उन्होंने कहा कि मुझे नहीं मालूम। वह जो भी करेंगे देशहित में होगा। बता दें कि वरुण का टिकट काटने के बाद सत्तारूढ़ भाजपा ने यहां अपने नए उम्मीदवार जितिन प्रसाद को जिताने के लिए पूरी ताकत लगा रही है।

'अस्पताल में माँ का निधन हुआ, मुझे अंतिम दर्शन तक के लिए पैरोल नहीं दी..', वो वक़्त याद करके भावुक हुए राजनाथ सिंह

झारखंड पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 12 खूंखार माओवादियों ने किया सरेंडर

बैंगलोर जल बोर्ड ने 407 लोगों से वसूला 20 लाख जुर्माना, कारण - पीने के पानी का गलत इस्तेमाल

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -