नफरत और Make In India साथ-साथ नही चल सकतेः शशि थरूर

Feb 08 2016 03:57 PM
नफरत और Make In India साथ-साथ नही चल सकतेः शशि थरूर

बोस्टन : विपक्षी अब देश के साथ-साथ देश के बाहर जाकर भी मोदी सरकार की आलोचना करने में जुटे है। हावर्ड यूनिवर्सिटी के सलाना इंडियन कंवेशन 2016 के संबोधन में कांग्रेसी नेता शशि थरूर ने मोदी को निशाना बनाते हुए कहा कि मेक इन इंडिया और हेट इन इंडिया दोनों का एक साथ चलना नामुमकिन है। उन्होने कहा कि बीजेपी नेताओं के अल्पसंख्यकों के लिए उतेजक बयान देश की सॉफ्ट पावर को कमजोर कर देता है।

थरूर ने आगे कहा कि इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर सेक्‍टर और मेन्‍यूफैक्‍चरिंग सेक्‍टर के निर्माण तथा मॉडर्नाइजेशन के लिए महत्‍वपूर्ण एफडीआई को आकर्षित करने के लिए देश के बहुलतावादी चरित्र को बनाए रखना होगा। दुनिया के सामने अपनी सॉफ्ट पॉवर की मदद से खुद को खड़ा करने से पहले भारत को घरेलु मोर्चे पर भी समस्‍याओं का समाधान करना होगा।

कांग्रेस के नेता ने कहा कि एक ऐसा देश जो अपनी सॉफ्ट पावर का उपयोग अपनी क्रेडिट बनाने से पहले करता है उसे अपनी घरेलु समस्याओं को पहले सुलझाना होगा। सच तो यह है कि हमें अपने लोगों को सुरक्षित, स्वस्थ और अच्छा रखने के लिए काफी कुछ करना होगा, लेकिन इथना नही कि हर किसी तक पहुंचे।

थरुर ने कहा कि यदि एक ओर हम विदेशों में जाकर विदेशी निवेश को देश में मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया और स्टार्ट अप इंडिया में निवेश करने के लिए प्रेरित करते है तो दूसरी ओर ओर हमें देश में बढ़ रही घृणा को भी रोकना होगा।