सहवाग को खेलते देख बनी क्रिकेटर, अब हुआ टीम इंडिया में सलेक्शन

Jan 11 2018 01:44 PM
सहवाग को खेलते देख बनी क्रिकेटर, अब हुआ टीम इंडिया में सलेक्शन

दक्षिण अफ्रीकी दौरे के लिए भारतीय महिला क्रिकेट टीम की घोषणा हो गयी है. इस टीम में कई धाकड़ खिलाड़ियों के साथ मध्य प्रदेश के शहडोल की ऑलराउंडर पूजा वस्त्राकर ने भी अपनी जगह बनाई है. इस दौरे पर भारत को अफ्रीका के खिलाफ तीन वनडे और पांच टी-20 मैचों की सीरीज खेलनी है. भारतीय टीम के कप्तान के रूप में एक बार फिर अनुभवी मिताली राज को चुना गया है. अफ्रीका दौरे पर जाने वाली इस टीम में शहडोल की पूजा का नाम भी शामिल है. आपको जानकार आश्चर्य होगा कि पांच बहनों में सबसे छोटी पूजा ने महज छह साल पहले टीवी पर वीरेंद्र सहवाग को बैटिंग करते देख क्रिकेट खेलने का मन बना लिया था.

अभी हाल ही में पूजा सुर्ख़ियों में आयी थी जब उन्होंने इंदौर में हुई चैलेंजर ट्रॉफी में अपनी शानदार तेजगेंद्बाजी से सबको अपना मुरीद बना लिया था. मध्यम वर्गीय परिवार से आने वाली पूजा के लिए टीम इंडिया का हिस्सा बनना आसान नहीं था. लेकिन उन्होंने वीरेंद्र सहवाग से मिले प्रोत्साहन और अपनी कड़ी मेहनत के बल पर ये मुकाम हासिल किया. हालांकि इससे पहले भी पूजा ने कई बार खुद को टीम के प्रबल दावेदार के रूप में खड़ा किया है लेकिन हर बार किसी न किसी चोट के कारण चयन के लिए उपलब्ध नहीं हो पायी.

दो साल पूर्व ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाने से पहले कमर में दर्द के कारण टीम इंडिया का हिस्सा नहीं बन पायी थी जबकि वर्ल्ड कप के पहले घुटने की सर्जरी कराने की वजह से टीम में अपनी जगह नहीं बना पायी थी. टीम इंडिया में अपने चयन से खुश पूजा का कहना है कि, इस बार चोटिल होने के कारण बाहर ना बैठना पड़े इसके लिए उनकी बहनों ने मन्नत मांगी थी. पूजा बताती है कि, 'चैलेंजर ट्रॉफी के दौरान अंगूठे में चोट लगी तो पूरा परिवार डर गया था'. हालांकि चोट गंभीर नहीं होने से अब पूजा का टीम में चुने जाने का सपना पूरा हो गया है.

 

तैयार हो रही है क्रिकेट+बॉलीवुड की नयी जोड़ी

द्रविड़ के रचे कीर्तिमानों पर एक नज़र