दिल्ली के बाद अब मध्यप्रदेश में कोरोना की मार, 70 दिन में दोगुने हुए केस

भोपाल: भारत में कोरोना वायरस के 4 लाख 53 हजार से अधिक सक्रीय मामले हैं. जबकि कोरोना वायरस की गिरफ्त में आकर देश में 1 लाख 36 हजार से अधिक मरीजों की मौत हो चुकी है. एक ओर जहां देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण की रफ्तार में थोड़ी राहत देखने को मिल रही है तो वहीं, मध्य प्रदेश में इस महामारी का कहर तेजी से बढ़ रहा है. 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, भारत में अब तक 136696 कोरोना मरीजों की जान जा चुकी है. जबकि 8802267 कोरोना मरीज इस महामारी से जंग जीत कर स्वस्थ हुए हैं. देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण की रफ्तार में थोड़ी गिरावट दर्ज की गई है. वहीं, मरने वालों के आंकड़े में भी कमी दर्ज हुई है. 7 नवंबर के बाद 29 नवंबर को बीते 24 घंटे में सबसे कम 68 मौतें दर्ज की गई हैं. इसके साथ ही लगातार दूसरे दिन नए मरीजों का आंकड़ा 5 हजार से नीचे दर्ज हुआ है. दिल्ली में सक्रीय मामलों की संख्या 35 हजार के करीब है. राज्य के सीएम अरविंद केजरीवाल ने राजधानी के लोगों से लगातार सावधानी बरतने का अनुरोध किया है. 

वहीं, दूसरी ओर कोरोना की दूसरी लहर की मार सह रहे मध्य प्रदेश में कंटेनमेंट जोन की वापसी हो गई है. राजधानी भोपाल में 5 और इंदौर में 2 कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं. बैरिकेडिंग लगाकर कंटेनमेंट इलाकों में आवागमन बंद कर दिया गया है. इसके साथ ही जागरुकता के लिए पोस्टर बैनर भी लगाए गए हैं. भोपाल के कोलार कंटेनमेंट जोन में लगभग 25 फीसद नए कोरोना मरीज सामने आए हैं. मध्य प्रदेश में प्रारंभिक 1 लाख मरीज़ों का आंकड़ा 6 महीने में हुआ था. वहीं, ये आंकड़ा 2 लाख तक पहुंचने में महज 70 दिन लगे यानी मध्य प्रदेश में कोरोना मामले डबल होने में महज 70 दिन का समय लगा.

आईपीओ बाजार ने बैल रैली के बीच 25K-Cr करोड़ रुपये जुटाए

RBI मुद्रास्फीति की चिंताओं पर दरों में नहीं होगी कटौती

FPI ने नवंबर में 62000-Cr के रिकॉर्ड का संचार किया शुरू

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -