होलिका दहन के पूजन के बाद जरूर करें ये काम, ख़त्म होगी हर मुसीबत
होलिका दहन के पूजन के बाद जरूर करें ये काम, ख़त्म होगी हर मुसीबत
Share:

सनातन धर्म में होली के त्योहार की खास अहमियत है. होली का त्योहार चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा तिथि को मनाया जाता है. वहीं, फाल्गुन माह की पूर्णिमा तिथि को होलिका दहन किया जाता है. इस दिन शुभ मुहूर्त में पूजन किया जाता है. बता दें कि इस बार होलिका दहन 07 मार्च के दिन होगा तथा रंग 8 मार्च को खेला जाएगा. ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, इस वर्ष होलिका दहन की तिथि पर सुबह से ही भद्रा का साया रहेगा. ऐसे में बोला जाता है कि भद्रा काल के समय शुभ कार्यों से बचना चाहिए. आइए जानें होलिका दहन का शुभ मुहूर्त एवं पूजा विधि के बार में.

होलिका दहन शुभ मुहूर्त 2023:-
हिंदू पंचांग के मुताबिक, इस वर्ष होलिका दहन 07 मार्च 2023 को किया जाएगा. वहीं, रंगों वाली होली 08 मार्च के दिन खेली जाएगी. 07 मार्च को होलिका दहन का शुभ मुहूर्त शाम 6 बजकर 24 मिनट से 8 बजकर 51 मिनट तक हैं. पूजन की कुल अवधि 2 घंटे 27 मिनट तक रहेगी. वहीं, भद्रा का मुख समय 7 मार्च को दोपहर 2 बजकर 58 मिनट से शाम 5 बजकर 6 मिनट तक रहेगा.

होलीका दहन को लेकर परम्परा है कि इस दिन पूजा के वक़्त कुछ उपायों को करने से व्यक्ति की कई प्रकार की जीवन की दिक्कतें दूर हो जाती हैं. इस दिन होलिका दहन से पहले नरसिंह भगवान की पूजा करने से व्यक्ति के सभी संकट दूर होती हैं तथा मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं. ज्योतिष शास्त्र में कहा गया है कि कोई भी पूजा आरती के बिना पूरी नहीं मानी जाती. ऐसे में होलिका दहन से पहले एवं पूजा के नरसिंह भगवान की ये आरती जरूर करें.

भगवान श्री नरसिंह जी की आरती:-
ॐ जय नरसिंह हरे, प्रभु जय नरसिंह हरे।
स्तम्भ फाड़ प्रभु प्रकटे, स्तम्भ फाड़ प्रभु प्रकटे, जन का ताप हरे।।  
ॐ जय नरसिंह हरे, प्रभु जय नरसिंह हरे।।
तुम हो दीन दयाला, भक्तन हितकारी, प्रभु भक्तन हितकारी।
अद्भुत रूप बनाकर, अद्भुत रूप बनाकर, प्रकटे भय हारी।।
ॐ जय नरसिंह हरे, प्रभु जय नरसिंह हरे।।
सबके ह्रदय विदारण, दुस्यु जियो मारी, प्रभु दुस्यु जियो मारी।
दास जान अपनायो, दास जान अपनायो, जन पर कृपा करी।।
ॐ जय नरसिंह हरे, प्रभु जय नरसिंह हरे।।
ब्रह्मा करत आरती, माला पहिनावे, प्रभु माला पहिनावे।
शिवजी जय जय कहकर, पुष्पन बरसावे।।
ॐ जय नरसिंह हरे, प्रभु जय नरसिंह हरे।।    

होली से लेकर चैत्र नवरात्रि तक, मार्च में पढ़ रहे है ये व्रत-त्यौहार

गंगाजल से पखारे चरण.., सनातन धर्म में वापस आए 250 लोग, छत्तीसगढ़ में हुआ आयोजन

'तुम्हारी लड़की मुस्लिम बन गई..', पीड़ित पिता से बोली पुलिस, बच्ची को बाजार से उठा ले गया था रउफ

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -