Share:
सांताक्रूज होटल में आग लगने से मारे गए यात्री के परिजन:
सांताक्रूज होटल में आग लगने से मारे गए यात्री के परिजन: "इंडिगो ने अभी तक माफी नहीं मांगी"

इस लेख में, हम इंडिगो एयरलाइंस से जुड़ी दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बारे में विस्तार से बताएंगे, जहां यात्रियों को रुकने के दौरान होटल में आग लगने की दुखद घटना का सामना करना पड़ा। इस त्रासदी के कारण हुई देरी में एयरलाइन की भूमिका के बावजूद, उनकी ओर से संचार और जवाबदेही की उल्लेखनीय कमी रही है। आइए इस दिल दहला देने वाली घटना के विवरण और निहितार्थों का पता लगाएं।

शामिल यात्री

कांतिलाल वारा, किशन हलाई, और रूपल वेकारिया - ये उन यात्रियों के नाम हैं जिनकी जिंदगी 27 अगस्त को घटी घटनाओं ने हमेशा के लिए बदल दी। आइए उन्हें थोड़ा और बेहतर तरीके से जानें।

कांतिलाल वारा: बेहतर भविष्य की ओर एक यात्रा

  • कांतिलाल का सपना: 40 वर्षीय दर्जी कांतिलाल वारा, अपने परिवार की वित्तीय स्थिति में सुधार की आशा से प्रेरित होकर, एक नई नौकरी के अवसर के लिए अहमदाबाद से नैरोबी की यात्रा पर निकले।

  • कनेक्टिंग उड़ानें: उनकी यात्रा में कनेक्टिंग उड़ानों की एक श्रृंखला शामिल थी, जिसका पहला चरण अहमदाबाद से प्रस्थान करने वाला था और अंतिम गंतव्य नैरोबी था।

घटनाओं का दुखद मोड़

  • मिस्ड कनेक्शन: कांतिलाल की योजनाओं में एक दुखद मोड़ आ गया जब अहमदाबाद से उनकी उड़ान में 45 मिनट की देरी हो गई, जिसके कारण उनकी नैरोबी के लिए कनेक्टिंग फ्लाइट छूट गई।

  • इंडिगो की प्रतिक्रिया: देरी के लिए ज़िम्मेदार एयरलाइन इंडिगो ने कांतिलाल को मुंबई से प्रस्थान करने वाली अगली उपलब्ध उड़ान में बुक किया, जिससे उन्हें और अन्य प्रभावित यात्रियों को सांताक्रूज़ के गैलेक्सी होटल में आवास प्रदान किया गया।

होटल में आग

  • एक घातक विस्फोट: 27 अगस्त को, गैलेक्सी होटल में आग लग गई, जिसमें कांतिलाल वारा, किशन हलाई और रूपल वेकारिया की जान चली गई।

  • सुरक्षा संबंधी चिंताएँ: मुंबई फायर ब्रिगेड के अधिकारियों ने खुलासा किया कि होटल में पर्याप्त सुरक्षा उपायों का अभाव था और यह आग के अनुरूप नहीं था, जिसके कारण इसके संचालन को निलंबित कर दिया गया।

इंडिगो की प्रतिक्रिया: करुणा और पारदर्शिता की कमी

मृत यात्रियों के परिवारों ने इंडिगो की प्रतिक्रिया, या कहें तो उसकी कमी पर निराशा व्यक्त की है।

माफी के लिए लंबा इंतजार

  • इंडिगो की ओर से चुप्पी: दुखद घटना को 10 दिन हो गए हैं, और शोक संतप्त परिवारों को अभी तक इंडिगो की ओर से औपचारिक माफी नहीं मिली है।

  • अनुत्तरित ईमेल: परिवारों द्वारा एयरलाइन को भेजे गए कई ईमेल अनुत्तरित हैं, जिससे वे संकट की स्थिति में हैं।

जवाबदेही की तलाश

  • देरी का प्रभाव: 45 मिनट की देरी, जो कि एयरलाइन की गलती थी, एक महत्वपूर्ण कारक है जिसके कारण कनेक्शन छूट गया और उसके बाद त्रासदी हुई।

  • चिंता की कमी: परिवारों को लगता है कि घटना के बाद इंडिगो ने पीड़ितों और उनके प्रियजनों के लिए बहुत कम चिंता दिखाई है।

कानूनी कार्रवाई की गई

न्याय की तलाश में, परिवारों ने इंडिगो की मूल कंपनी इंटरग्लोब एविएशन लिमिटेड से मुआवजे का दावा करने के लिए कानूनी कार्यवाही शुरू की है।

कानूनी आधार

  • हवाई परिवहन अधिनियम: यह कानून हवाई यात्रा के दौरान किसी यात्री की मृत्यु या चोट लगने की स्थिति में वाहक को नुकसान के लिए उत्तरदायी मानता है।

  • मॉन्ट्रियल कन्वेंशन: कैरिज बाय एयर एक्ट मॉन्ट्रियल कन्वेंशन के सिद्धांतों के अनुरूप है, जो हवाई आपदा पीड़ितों के लिए मुआवजे को संबोधित करने वाली एक संधि है।

मुआवज़े की मांग

  • तत्काल मुआवजा: कंपनी को भेजे गए कानूनी नोटिस में 14 दिनों के भीतर परिवारों के लिए मुआवजे की मांग की गई है।

  • एयरलाइंस की जिम्मेदारी: परिवारों का तर्क है कि एयरलाइन यात्रियों की यात्रा के दौरान उनकी सुरक्षा के लिए जिम्मेदार है और उन्हें तदनुसार मुआवजा देना चाहिए।

इंडिगो की आधिकारिक प्रतिक्रिया

संपर्क करने पर, इंडिगो ने एक प्रेस बयान जारी कर पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की और मामले की जांच करने की अपनी प्रतिबद्धता पर जोर दिया। हालाँकि, एयरलाइन की जवाबदेही को लेकर चिंताएँ बनी हुई हैं।

विशेषज्ञ की राय

विमानन और कानूनी विशेषज्ञों ने इस मामले पर विचार करते हुए कहा है कि परिस्थितियों को देखते हुए परिवारों के पास मुआवजे के लिए वैध दावा है। इंडिगो एयरलाइंस से जुड़े ठहराव के दौरान होटल में आग लगने की दुखद घटना एयरलाइन की जिम्मेदारी और जवाबदेही पर महत्वपूर्ण सवाल उठाती है। पीड़ितों के परिवार न केवल मुआवज़ा चाहते हैं, बल्कि इस हृदय विदारक त्रासदी के सामने जवाब और समाधान भी चाहते हैं। एयरलाइंस के लिए यात्री सुरक्षा और संचार को प्राथमिकता देना आवश्यक है, खासकर संकट के समय में।

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -