दूसरे ‘निर्भया कांड’ में बढ़े विरोध के स्वर

कोच्चि : राज्य में ‘दूसरे निर्भया कांड’ के नाम से चर्चित हो रहे एक 30 वर्षीय दलित महिला एवं कानून की छात्रा के साथ हुए बलात्कार और फिर हत्या कर दिए जाने से कोच्चि में विरोध के स्वर बढ़ गए हैं. इधर, विरोध प्रदर्शन के बीच केरल के सीएम ओमान चांडी ने पीडिता की बीमार माँ से अस्पताल में मुलाक़ात की.उन्होंने एलान किया कि दोषियों को जल्द ही न्याय के कटघरे में खड़ा किया जाएगा.

उन्होंने पीडिता की माँ को सांत्वना देकर पीडिता की बहन को सरकारी नौकरी दिलाने के लिए प्रयास करने की भी बात कही, ताकि परिवार को मदद मिल सके. सीएम ने कहा आरोपियों को शीघ्र पकड़ा जाएगा.कोई भी चीज कड़ी कार्रवाई को नहीं रोक पाएगी.

गौरतलब है कि एर्नाकुलम जिले में 28 अप्रैल को 30 वर्षीय दलित महिला के साथ उसके पेरम्बवूर घर में घुसकर कथित तौर पर बलात्कार किया गया और फिर धारदार हथियारों से चोट पहुंचाकर हत्या कर दी गई थी. गरीब परिवार से जुडी महिला कानून की भी छात्रा भी थी.इस मामले में अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है.

आगामी 16 मई से शुरु होने जा रहे विधान सभा चुनाव को देखते हुए इसका राजनीतिकरण किया जा रहा है. इस अपराध को केरल की निर्भया कहकर संबोधित किया जा रहा है, क्योंकि इसमें बरती गई क्रूरता दिल्ली के निर्भया काण्ड की याद दिलाती है.

एर्नाकुलम रेंज के महानिरीक्षक महिपाल यादव ने कहा कि महिला के गले पर दम घोटने, छाती और कई अन्य अंगों पर 13 चोटों के निशान थे, जबकि अन्य खबर के अनुसार 20 चोटें थी और उसकी आंतें बाहर निकाल ली गई थी. इस कारण यह राज्य का पहला सबसे अधिक क्रूरता वाला मामला बन गया.      

                              

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -