वीडियो कॉन्फरेंसिंग के जरिए कोर्ट में पेश हुए थे केजरीवाल, पत्नी सुनीता ने वीडियो बनाकर किया वायरल, FIR दर्ज करने की मांग
वीडियो कॉन्फरेंसिंग के जरिए कोर्ट में पेश हुए थे केजरीवाल, पत्नी सुनीता ने वीडियो बनाकर किया वायरल, FIR दर्ज करने की मांग
Share:

नई दिल्ली: दिल्ली के सीएम और आम आदमी पार्टी (AAP) सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल के बाद अब उनकी पत्नी सुनीता केजरीवाल की मुश्किलें बढ़ती नज़र आ रहीं हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार, सुनीता के खिलाफ दिल्ली उच्च न्यायालय में याचिका डालकर FIR दर्ज करने की माँग हुई है। इस याचिका में कहा गया है कि सुनीता केजरीवाल ने मार्च महीने में एक कोर्ट सुनवाई के दौरान अरविंद केजरीवाल की जजों के साथ होती बातचीत का वीडियो रिकॉर्ड किया था और बाद में वो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल किया गया था।

रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली उच्च न्यायालय में यह याचिका को पेशे से वकील वैभव सिंह ने दाखिल की है। याचिका में कोर्ट के वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग नियमों का उल्लंघन करने के लिए कार्रवाई करने की माँग की गई है। याचिका में कहा गया है कि जब 28 मार्च, 2024 को दिल्ली के सीएम केजरीवाल को वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिए ट्रायल कोर्ट में पेश किया गया था, तो उनकी पत्नी सुनीता केजरीवाल और अन्य ने ट्रायल कोर्ट की सुनवाई को अवैध रूप से रिकॉर्ड किया।

बाद में AAP समर्थकों द्वारा ये रिकॉर्डिंग #MoneyTrailExposedByKejriwal हैशटैग के साथ सोशल मीडिया पर वायरल की गई थी। AAP समर्थकों ने इसे केजरीवाल की धमाकेदार वीडियो बताताते हुए शेयर किया था और दावा किया था कि केजरीवाल ने ED के तमाम दावों की धज्जियाँ उड़ा दी हैं। इसके जरिए एक तरह से न्यायपालिका पर दबाव बनाने और देश में केजरीवाल के प्रति माहौल बनाने का प्रयास किया गया था। अब इसी वीडियो को रिकॉर्ड करने के संबंध में ये याचिका डाली गई है। हाई कोर्ट में दाखिल याचिका में आगे कहा गया है जिन परिस्थितियों में वीडियो रिकॉर्डिंग वायरल की गई, उससे सियासी दलों द्वारा न्यायपालिका की छवि धूमिल करने और इस देश के आम लोगों को गुमराह करने की बू आती है, ताकि जनता इसे देखकर यह सोचे कि, न्यायपालिका किसके इशारे पर कार्य कर रही है।

बता दें कि सोशल मीडिया पर वायरल हुई वीडियो में दिख रहा था कि अरविंद केजरीवाल विशेष न्यायधीशों के सामने वीडियो कॉन्फरेंसिंग के जरिए अपनी बात रख रहे थे। वीडियो में वो अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ बातें कह रहे थे कि उन्हें किसी अदालत ने दोषी भी नहीं करार दिया फिर भी उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। हालाँकि, फ़िलहाल केजरीवाल चुनाव प्रचार के लिए एक जून तक जमानत पर हैं, उन्हें दो जून को वापस सरेंडर करने का आदेश दिया गया है, किन्तु उन्होंने अपनी सेहत का हवाला देकर 7 दिन जमानत बढ़ाने की मांग की है। ये मांग सुप्रीम कोर्ट में ख़ारिज हो चुकी है, जिसके बाद केजरीवाल ट्रायल कोर्ट में जमानत मांगने पहुंचे हैं।  

नाबालिग लड़की को बाइक पर किडनैप करके ले गए इलियास, रहमान और अहमद, किया सामूहिक बलात्कार, तीनों गिरफ्तार

हिन्दू लड़की-मुस्लिम लड़के की शादी जायज या नहीं ? MP हाई कोर्ट ने दिया बड़ा फैसला

पुणे हादसे में आरोपी का कबूलनामा, कहा- 'डॉक्टर तावरे ने डाला था दबाव'

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -