बाबा के ऐतराज से लेखिका को मंच पर आने से रोका, स्थगित हुई कलाम की किताब लॉन्चिंग

Sep 27 2015 12:23 AM
बाबा के ऐतराज से लेखिका को मंच पर आने से रोका, स्थगित हुई कलाम की किताब लॉन्चिंग

नई दिल्ली : दिवंगत पूर्व राष्ट्रपति डॉ अब्दुल कलाम की एक किताब की लॉन्चिंग का प्रोग्राम शनिवार को एक विवाद होने के कारण कैंसल हो गया. किताब केरल के त्रिशूर में लॉन्च होनी थी, लेकिन जिस लेखिका ने इसका अनुवाद किया उन्हें ही मंच पर न आने के लिए कहा गया. इसी पर विवाद हो गया.

लेखिका श्रीदेवी एस कार्ता ने कलाम की किताब 'ट्रैन्सेन्डन्सः माय स्प्रिचुअल एक्सपीरियंस विद प्रमुख स्वामीजी' का अनुवाद किया है. इसका शुभारंभ किया जाना था और चीफ गेस्ट थे प्रमुख स्वामीजी के प्रतिनिधि ब्रह्म विहारीदास स्वामी. आपको बता दे की ये स्वामीजी महिलाओं के साथ मंच पर उपस्थित नही रहते है. इस कारण आयोजकों ने लेखिका को मंच पर आने को नही कहा.

फेसबुक पर लेखिका की पोस्ट वायरल- कार्ता ने अपने फेसबुक पेज पर इस मुद्दे को उठाते हुए पोस्ट किया इस पोस्ट में उन्होंने पूरा मामला बताते हुए लिखा कि प्रकाशक करंट बुक्स त्रिशूर ने उन्हें मंच से दूर रहने की सलाह दी है. इस कारण से वह इस मौके पर नही जा रही है. देखते ही देखते यह पोस्ट वायरल हो गई. और आखिरकार किताब की लॉन्चिंग भी स्थगित हो गई. इस आयोजन में कलाम के सह-लेखक अरुण तिवारी भी आने वाले थे.

कार्ता ने आगे फेसबुक पर बताया कि प्रकाशक ने स्वामीजी की ओर से 2 शर्तें रखी थीं. एक, मंच पर स्वामीजी के साथ कोई भी महिला न हो. दूसरी, जब स्वामीजी मंच पर हों तो सामने की तीन पंक्तियां खाली रहें. इन पर उनके साथ आए लोग बैठेंगे.