जाट आरक्षण : सेना ने संभाला मोर्चा, दिल्ली में जल आपूर्ति प्रभावित

Feb 20 2016 12:40 PM
जाट आरक्षण : सेना ने संभाला मोर्चा, दिल्ली में जल आपूर्ति प्रभावित

नई दिल्ली : हरियाणा में जाटों द्वारा शासकीय सेवा और उच्च शैक्षणिक संस्थानों में प्रवेश हेतु आरक्षण दिए जाने की मांग की जा रही है। जाट आरक्षण की मांग को लेकर उग्र हो गए हैं। जाटों द्वारा हरियाणा का जनजीवन तो प्रभावित किया ही गया है लेकिन इसकी आग दिल्ली तक पहुंच गई है। जाटों द्वारा मुनक नहर के पानी का प्रवाह रोक दिए जाने से दिल्ली में जल प्रदाय की परेशानी होने लगी है। यही नहीं कई ट्रेनें प्रभावित हुई हैं तो कई को रद्द भी करना पड़ा है। जिंद में तो आंदोलनकारियों ने स्टेशन में ही आग लगा दी।

जाटों के आंदोलन का असर राजस्थान के गुर्जर आरक्षण आंदोलन की ही तरह नज़र आ रहा है। बिगड़ती स्थिति को नियंत्रित करने के लिए सेना ने फ्लैग मार्च किया है। भिवानी में फ्लैग मार्च निकाले जाने के ही साथ आठ जिलों में सेना ने अपनी कमान संभाल ली है। स्थिति यह रही कि रोहतक के साथ भिवानी में कर्फ्यू लागू कर दिया गया। जाट आरक्षण आंदोलनकारियों ने राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 1 को जाम कर दिया है।

दिल्ली विश्वविद्यालय में जाट आरक्षण संघ से जुड़े विद्यार्थियों ने प्रदर्शन किया। इस अवसर पर पुलिस ने इन आंदोलनकारियों से चर्चा की और मामले को सुलझाने का प्रयास भी किया। मुनक नहर को प्रभावित किए जाने को लेकर दिल्ली के मंत्री कपिल मिश्रा ने जाटों के आंदोलन को लेकर अपना आक्रोश जताया। उनका कहना था कि इससे दिल्ली में पानी सप्लाय प्रभावित हो गई है। हालात ये हैं कि चंद्रावल और वजीराबाद में कम दबाव से जलप्रदाय हो रहा है। तो कुछ क्षेत्रों में पानी में अमोनिया की मात्रा ही बढ़ गई है। हैदरपुर, द्वारका और नांगलोई के ही साथ बवाना पर असर हुआ है।