भारतीय मछुआरों की हत्या का मामला, नौसेनिक पंचाट में होंगे पेश

नई दिल्ली : इटली में भारतीय मछुआरों की हत्या को लेकर नौसेनिकों को बचाने का आरोप लगाया जा रहा है। ऐसे में यह मामला अंतर्राष्ट्रीय पंचाल में पहुंच गया हैं इस मामले में इटली ने सर्वोच्च न्यायालय को मामले से अवगत करवाया। 

हालांकि नौसेनिक का स्वास्थ्य ठीक नहीं चल रहा है ऐसे में उसे न्यायालय ने 6 माह के लिए इटली में निवास करने की अनुमति दे दी है। दरअसल इस नौसेनिक का नाम मसीमिलानो लातेरी है। इसके अन्य साथियों ने 15 जनवरी 2012 को केरल के तट पर दो भारतीय मछुुआरों को मार दिया था। इन्होंने कहा था कि उन्हें आशंका थी कि मुछआरे समुद्री डाकू थे। ऐसे में इन दोनों के विरूद्ध मामला चल रहा है।

दूसरी ओर इटली ने इन नौसेनिकों को बचाने का प्रयास किया था और काफी समय तक भारत को सौंपा ही नहीं था दूसरी ओर इन नौसेनिकों को लेकर इटली ने कहा था कि यह घटना भारत के अधिकार क्षेत्र से बाहर हुई थी। न्यायमूर्ति एआर दवे की अध्यक्षता वाली पीठ को इस मामले की जानकारी देते हुए कहा कि अंतर्राष्ट्रीय पंचाट में यह मामला जा चुका है।

जिसके बाद यह भारत के न्याय क्षेत्र से बाहर हो चुका है। जिससे इटली के नौसेनिकों को न्याय मिलने में आसानी होगी। दरअसल भारत इस तरह की संधि का हस्ताक्षर करने वाला देश है। जिससे इसे पंचाट की कार्रवाई को अपनाना होगा।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -