क्या आज पेश हो पाएगा अविश्वास प्रस्ताव ?

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ कल अविश्वास प्रस्ताव के 3 नोटिस प्रस्तुत किए गए थे, लोकसभा में सोमवार को वाईएसआर कांग्रेस और तेलुगू देशम पार्टी मोदी सरकार के खिलाफ अपना अविश्वास प्रस्ताव लाने पर जोर दे रही थी. लेकिन संसद के कामकाज में गतिरोध दूर होने के कोई संकेत नजर नहीं आ रहे था जिसके बाद भारी हंगामे के कारण सदन के कामकाज को मंगलवार तक के लिए रोक दिया गया था.

सोमवार को लोकसभाध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा कि सदन में व्यवस्था नहीं होने के कारण अविश्वास प्रस्ताव को आगे नहीं बढ़ाया जा सकता. वहीं सदन में मौजूद गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सरकार अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के लिए तैयार है और सभी दल सहयोग दें. सरकार ने राज्‍यसभा में फाइनेंस बिल भी लिस्‍टेड किया है, जबकि 11 दिनों से हंगामे के चलते सदन की कार्यवाही नहीं चल सकी है. इससे पहले सरकार इस बिल को लोकसभा में हंगामे के बावजूद पास करा चुकी है. 

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने प्रस्ताव के नोटिस सदन पटल पर रखने को कहा, ताकि इस पर चर्चा शुरू की जा सके. प्रस्ताव को स्वीकार करने के लिए इसे कम से कम 50 सदस्यों का समर्थन होना चाहिए, आपको बता दें कि पिछले दो सप्ताह से ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (अन्नाद्रमुक) और टीआरएस सदस्यों ने अपनी मांगों को लेकर नारेबाजी और हंगामा करने के कारण संसद में सुनवाई नहीं हो पा रही है. अब देखना यह है कि क्या आज विपक्ष, नरेंद्र मोदी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने में सफल हो पाता है ? 

संसद में 'अविश्वास प्रस्ताव' के 3 नोटिस प्रस्तुत

आज आएगा मोदी सरकार के खिलाफ पहला अविश्वास प्रस्ताव

यूपी और गुजरात में रोचक हुआ राज्य सभा का चुनाव

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -