यात्रियों की संख्या में आई भारी कमी, मंत्री हुए चिंतित

यात्रियों की संख्या में आई भारी कमी, मंत्री हुए चिंतित

नई दिल्ली : भारतीय रेलवे के द्वारा सवारी को लुभाने के लिए जहाँ एक तरफ कई नई-नई योजनाओं का शुभारम्भ किया जा रहा है वहीँ दूसरी तरफ रेलवे को घाटे का सामना भी करना पड़ रहा है. हाल ही में यह बात सामने आई है कि चालू वित्त वर्ष में रेलवे डिपार्टमेंट को यात्रियों की संख्या में भारी कमी झेलना पड़ी है. इस दौरान यह सामने आया है कि महज 5 महीनों के दौरान 15 करोड़ यात्रियों ने भारतीय रेलवे का साथ छोड़ दिया है. जबकि इन महीनों के दौरान किराये में भी कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है. इस परेशानी के चलते रेल मंत्री सुरेश प्रभु भी खासे चिंतित नजर आ रहे है. इस मामले में मंत्री ने यह भी कहा है कि हमेशा ट्रेनों को भी फूल देखा जाता है और रिजर्वेशन को लेकर भी हमेशा लम्बी लाइन देखि जाती है.

लेकिन इसके बावजूद भी इतनी ज्यादा संख्या में यात्रियों का कम होना एक बहुत बड़ी समस्या है. रेल मंत्रालय ने आंकड़े जारी किये है जिनसे यह बात भी सामने आई है कि पिछले वित्त वर्ष के दौरान अप्रैल से अगस्त माह की अवधि के बीच 3 अरब 57 करोड़ यात्रियों ने ट्रैन में सफर किया है लेकिन इस वर्सज इस संख्या में 4.2 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है और इसीके साथ यह संख्या 3 अरब 42 करोड़ हो गई है.