सरकार ने दिखाई सख्ती, नाइक के संगठन के पिछले 10 वर्षो की जुटाई जा रही जानकारी

मुंबई : विवादित मुस्लिम धर्म प्रचारक जाकिर नाइक के मामले में पुलिस सख्ती से काम ले रही है। जाकिर के धार्मिक संगठन इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन को मिलने वाले विदेशी चंदो को लेकर सरकार ने जांच का दायरा बढ़ा लिया है। गृग मंत्रालय ने संगठन का पिछले 10 वर्षो के बही खाता का हिसाब मांगा है।

मंत्रालय ने आदेश दिया है कि संगठन और नाइक जुड़ी कंपनियों के पिछले 10 वर्षो के इनकम टैक्स रिटर्न पूरी जानकारी एकत्रित की जाए। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, संगठन को अब तक 80 लाख पाउंड का चंदा मिल चुका है। जिसका एक बड़ा हिस्सा पीस टीवी को ट्रांसफर किया गया है। वही पीस टीवी जिस पर नाइक के भाषणों को प्रसारित किया जाता है।

फिलहाल नाइक विदेश में है, इसलिए जांच एजेंसियों को कई मामलो की जानकारी नहीं मल पा रही है। नाइक बांग्लादेश की राजधानी ढाका में हुए आतंकी हमले के बाद से चर्चा में आए थे। इन विवादों के बीच सरकार ने केबल ऑपरेटरों से पीस टीवी पर नाइक के भाषणों का प्रसारण बंद करने को कहा है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -