आपसी व्यवसायिक ताल-मेल 3 महीनो मे बढ़े

Jan 28 2016 10:20 AM
आपसी व्यवसायिक ताल-मेल 3 महीनो मे बढ़े

नई दिल्ली : एक सर्वे के अनुसार इंडियन कंपनियो के बीच पहली बार कारोबारी भरोसो मे इजाफ़ा होते दिखाई दे रहा है। विगत जून माह के बाद कंपनियो को एक के बाद एक आर्डर मिलते जा रहे है। जिससे कंपनियो को अधिक मात्रा मे मुनाफे होते जा रहे है। अक्टूबर 2015 के बाद घरेलू आर्डर आने पर, डायचे बोर्स का एमएनआई इंडिया बिजनेस सेंटीमेंट इंडीकेटर जनवरी माह के दौरान 61.8 अंक पर आ गया है। यह दिसंबर माह मे 60.7 अंक पर ही सीमित था। जून के बाद पहली बार आर्डर बड़ने पर, कंपनियो मे आपसी संबंध बढ़ते नजर आ रहे है।

इस बात की पुष्टि एमएनआई इंडीकेटर्स के चीफ इकोनामिस्ट फिलिप यूग्लो ने की। सर्वे के अनुसार मैनुफैक्चरींग और सर्विस सेक्टर की कंपनियों का भरोसा बड़ते हुए नजर आ रहा है, परंतु कंस्ट्रक्शन कंपनियो को विगत कुछ महीनो मे ज्यादा मुनाफा नही हुआ है। इस सर्वे मे संभावना सूचकांक जनवरी मे 71.8 पर गिरकर रह गया, जबकि सूचकांक दिसंबर मे 74.3 पर था। नए आर्डरो का संभावना सूचकांक 2.6% सुधर गया है, जिससे व्यवसायिक आर्डर डिमांडिंग मे कमी हो गई है।

पैनल मे शामिल 20% मेम्बर्स का मानना है कि, नई सरकार के आने के बाद देश को व्यापारिक रूप से लाभ हुआ है। इसके अलावा पैनल के बाकी 50% मेम्बर्स पर कोई असर नही पड़ा है। इस बात की पुष्टि यूग्लो ने की है। सर्वे मे शामिल 17% लोगो ने कहा कि, मोदी सरकार बनने के बाद देश ने अब तक आर्थिक रूप से तरक्की की है। इसके बावजूद 22% लोगो का यह कहना है कि, इतने जल्दी कोई परिणाम निकालना अच्छी बात नही होंगी।