पाक मीडिया रिपोर्टो के आधार पर भारत कोई टिप्पणी नहीं करेगा

नई दिल्ली : पठानकोट एयरबेस पर हुए हमले की जांच के लिए आए पाकिस्तानी जांच दल ने पाकिस्तान पहुंचने के बाद से एक बार भी भारतीय राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी से संपर्क नहीं किया है। इसके बाद अब भारत सरकार ने भी तय किया है कि जब तक पाकिस्तान की ओर से कोई ऑफिशियल स्टेटमेंट जारी नहीं किया जाता, तब तक वो पाक मीडिया में चल रही खबरों पर अपनी प्रतिक्रिया नहीं देगी।

दरअसल पाक मीडिया के अनुसार, जेआईटी द्वारा बनाई गई रिपोर्ट लीक हो गई। उस रिपोर्ट में कहा गया है कि पठानकोट में किया गया हमला भारत का एक प्रोपगैंडा मात्र है। साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि भारत ने पाकिस्तान को हमले से जुड़े कोई भी साक्ष्य नहीं दिए है, जिससे साबित हो कि हमला पाकिस्तान की जमीन से हुआ है।

पाकिस्तान इश मामले की जांच के लिए एयरबेस के भीतर जदाना चाहता था, जब कि एनआईए ने उन्हें इस बात की परमिशन नहीं दी। इन सबके बाद अब केंद्र सरकार राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल व पाकिस्तानी सुरक्षा सलाहकार नसीर खान जंजुआ के बीच बातचीत का इंतजार कर रही है।

सरकार का कहना है कि पाक को हमले से जुड़े पर्याप्त सबूत उपलब्ध कराए गए है, इसलिए अब फैसला उन्हें ही लेना है। ज्वाइंट इन्वेस्टिगेशन टीम के एक सदस्य ने वहां मीडिया को बताया कि पठानकोट अटैक भारत की अथॉरिटी द्वारा किया गया एक प्रोपगैंडा है।

भारत ने ऐसा कोई भी सबूत पेश नहीं किया, जिससे साबित हो सके हमला पाक ने कराया है। एनआईए के अधिकारी तंजील अहमद के हत्या के मामले में पाकिस्तानी अधिकारियों का कहना है कि भारतीय एजेंसियां चाहती है कि ये केस ही खत्म हो जाए।

पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि भारतीय एजेंसियां हमलावरों के डिटेल नहीं दे पाई। हमले के चंद घंटे के भीतर ही सारे हमलावरों को मार गिराया गया, लेकिन आरतीय एजेंसियां तीन दिनों तक ड्रामा खेलती रही।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -