Share:
भारत-चीन बैठक: दोनों देशों ने स्वीकारा, बेहतर संबंधों के लिए सीमा पर शांति जरुरी
भारत-चीन बैठक: दोनों देशों ने स्वीकारा, बेहतर संबंधों के लिए सीमा पर शांति जरुरी

बीजिंग: भारत और चीन के विशेष प्रतिनिधियों के बीच शनिवार को दिल्ली में 22वें दौर की वार्ता हुई. भारत की ओर से राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल (Ajit Doval) जबकि चीन की ओर से उनके विदेश मंत्री वांग यी (Wang Yi) ने अपने प्रतिनिधिमंडल का प्रतिनिधित्व किया.

पीएम नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच चेन्नई में हुए अनौपचारिक शिखर सम्मेलन के बाद दोनों देशों के बीच ये पहली हाई लेवल मीटिंग है. सीमा विवाद का शांतिपूर्वक तरीके से समाधान करने के लिए दोनों ही देशों ने एक मैकेनिज्म निर्धारित कर रखा है. जिसके तहत भारत और चीन की ओर से इस मुद्दे पर बात करने के लिए विशेष प्रतिनिधि नियुक्त है. ये निरंतर बैठक कर दोनों देशों को ही स्वीकार्य हल निकालने की लगातार प्रयास करते हैं. इसी प्रक्रिया के तहत आज दिल्ली के हैदराबाद हाउस में मीटिंग हुई.

इस मीटिंग में दोनों ही देशों के प्रतिनिधियों ने भारत और चीन के बीच सीमा से जुड़े मुद्दे आपसी सहमति से समाधान करने और विकास को लेकर भागीदारी बढ़ाने को लेकर वार्ता हुई. पीएम नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति के बीच चेन्नई में हुई दूसरी इनफॉर्मल समिट के तहत दोनों ही पक्ष इस बात पर राजी हुए हैं कि दोनों देशों को स्वीकार्यता के हिसाब से सीमा के मुद्दे का समाधान किया जाए, क्योंकि दोनों ही देश के लिए यह मुद्दा काफी अहम है और इसका समाधान भी जल्द निकालना आवश्यकता है जिससे दोनों देशों के संबंध और मजबूत हो सकें.

चीन- अमेरिका के बीच प्रथम चरण का व्यापार समझौता संपन्न, ट्रम्प ने जिनपिंग को लेकर कही यह बात

फ्रांस आर्मी ने माली में ढेर किए IS के 24 आतंकी, राष्ट्रपति मैक्रों बोले- 'लड़ाई जारी रखेंगे'

1976 के बाद क्यूबा को मिला पहला प्रधानमंत्री, फिदेल कास्त्रो ने खत्म किया था PM पद

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -